बापू की कलम : आचार्य काका कालेलकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Bapu Ki Kalam : Acharya Kaka Kalelkar Hindi PDF Book -Social (Samajik)

बापू की कलम : आचार्य काका कालेलकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - सामाजिक | Bapu Ki Kalam : Acharya Kaka Kalelkar Hindi PDF Book -Social (Samajik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name बापू की कलम / Bapu Ki Kalam
Author
Category,
Language
Pages 472
Quality Good
Size 15 MB
Download Status Available

बापू की कलम पुस्तक का कुछ अंश : लेकिन जब सारा भारत सत्याग्रह आश्रम से प्रेरणा पाने लगा और सब प्रान्तों के लोग आश्रम में आकर रहने लगे, तब जमनालालजी फिर से हिन्दी की ताऔद शुरू की | असुका स्वीकार करके गाँधीजी आश्रय के व्यवहार में और प्रार्थना में भी हिंदी में बोलने लगे | हिंदी भाषी लोग बोलते, उनके पत्र पढ़ते और उनके भाषण सुनते-सुनते गांधीजी का हिंदी का मुहावरा बढ़ा | हिंदी ज्ञान कच्चा होते हुए भी……..

Bapu Ki Kalam PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Lekin jab sara Bharat Satyagrah Ashram se prena Pane laga aur sab Pranton ke log Ashram mein Akar Rahne lage, tab Jamanalalaji phir se Hindi ki Taid Shuru ki. Asuka Svikar karke Gandhiji Ashray ke Vyavhar mein aur Prarthana mein bhi hindi mein bolane lage. Hindi Bhashi log bolate, Unake Patr Padhate aur unake bhashan Sunate-sunate Gandhiji ka hindi ka Muhavara Badha. Hindi Gyan kachcha hote hue bhi………….
Short Passage of Bapu Ki Kalam Hindi PDF Book : But when all Bharat Satyagraha Ashram got inspiration and people of all provinces started coming in the ashram, Jamnalalji again started Hindi. By accepting Asuka, Gandhiji started speaking Hindi in the practice of shelter and in prayer. Hindi-speaking people spoke Hindi, read their letters and heard their speech; Even though Hindi knowledge is raw…………..
“जो छोटे मसलों में सच को गंभीरता से नहीं लेता, उस पर बड़े मसलों में भी भरोसा नहीं किया जा सकता।” ‐ अल्बर्ट आइंस्टीन
“Anyone who doesn’t take truth seriously in small matters cannot be trusted in large ones either.” ‐ Albert Einstein

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment