जैन-न्याय : कैलाशचन्द्र शास्त्री द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – धार्मिक | Jain Nyay : by Kailash Chandra Shastri Hindi PDF Book – Religious (Dharmik)

जैन-न्याय : कैलाशचन्द्र शास्त्री द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - धार्मिक | Jain Nyay : by Kailash Chandra Shastri Hindi PDF Book - Religious (Dharmik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name जैन-न्याय / Jain Nyay
Author
Category,
Language
Pages 388
Quality Good
Size 9 MB
Download Status Available

जैन-न्याय का संछिप्त विवरण : सिद्धांतचर्या प॑० कैलाशचन्द्र शास्त्री के द्वारा लिखित पुस्तिका का मैंने विदोष अभिरुचि और प्रसन्नता के साथ अवलोकन किया | प्रस्तुत पुस्तक में जैन न्याय शास्त्र के कतिपय महत्त्वपूर्ण विषयों का सव्धानो के साथ अध्ययन प्रस्तुत किया गया है और इसमें प्राचीन अधिकारों ग्रन्थकारो को भी सार रूप में दिया गया है………

Jain Nyay PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Siddhantcharya Pt. Kailashchandr shastri ke dwara likhit pustika ka mainne vidosh abhiruchi aur prasannata ke sath avalokan kiya. Prastut pustak mein jain nyay shastr ke katipay mahattvapurn vishayon ka savdhano ke sath adhyayan prastut kiya gaya hai aur ismen prachin adhikaron granthakaro ko bhi saar rup mein diya gaya hai…………
Short Description of Jain Nyay PDF Book : I saw the book written by Pt. Kailash Chandra Shastri, with my love and affection. In the book presented with study of some of the important topics of Jainism, the study has been presented, and in it the ancient rights have been given in the abstract as well……………
“ऐसा नहीं है कि कार्य कठिन हैं इसलिए हमें हिम्मत नहीं करनी चाहिए, ऐसा इसलिए होता है क्योंकि हम हिम्मत नहीं करते हैं इसलिए कार्य कठिन हो जाते हैं।” ‐ सेनेका
“It is not because things are difficult that we do not dare; it is because we do not dare that things are difficult.” ‐ Seneca

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment