जारज : श्री राजेश्वरप्रसाद सिंह द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Jaraj : by Shri Rajeshvar Prasad Singh Hindi PDF Book – Upanyas (Novel)

जारज : श्री राजेश्वरप्रसाद सिंह द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - उपन्यास | Jaraj : by Shri Rajeshvar Prasad Singh Hindi PDF Book - Upanyas (Novel)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name जारज / Jaraj
Author
Category, , , ,
Language
Pages 265
Quality Good
Size 42 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : प्रेमचन्द तथा सुदर्शन के समकालीन कथाकार राज॑श्वर प्रसाद सिंह का प्रसिद्द उपन्यास ‘खेल’ नये रूप-रंग में प्रस्तुत है। इस उपन्यास में पाठक को जहाँ आदर्श तथा यथार्थ के धरातल पर उच्च स्तर का कलात्मक मनोरंजन प्राप्त होगा, वहीं उसे ‘चिरंतन सत्य के विविध रूपों का दर्शन भी होगा । “जारज ! में पाठक को मिलेगी अन्तर को झकझोर……….

Pustak Ka Vivaran : Premachand tatha sudarshan ke Samkalin kathakar Rajeshvar prasad sinh ka prasidd upanyas khel naye roop-rang mein prastut hai. Is upanyas mein pathak ko jahan adarsh tatha yatharth ke dharatal par uchch star ka kalatmak manoranjan prapt hoga, vaheen use chirantan saty ke vividh roopon ka darshan bhi hoga . “Jaraj! mein pathak ko milegi antar ko jhakajhor…….

Description about eBook : The famous novel ‘Khel’ by Premchand and Sudarshan contemporary narrator Rajeshwar Prasad Singh is presented in a new form. In this novel, where the reader will get a high level of artistic entertainment on the ground of ideal and reality, he will also have a vision of ‘diversified forms of chirantan truth’. “Jarj! I will find the difference between the reader and …….

“जब तक हम दूसरों के बारे में नहीं सोचते और उनके लिए कुछ नहीं करते हैं, तब तक हम खुशियों के सबसे बड़े स्रोत को गंवाते रहते हैं।” – रे लाइमन विलबुर
“Unless we think of others and do something for them, we miss one of the greatest sources of happiness.” -Ray Lyman Wilbur

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment