जिसने सेब के बीज बोए : कैरोल द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Jisane Seb Ke Beej Boye : by Carol Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Nameजिसने सेब के बीज बोए / Jisane Seb Ke Beej Boye
Author
Category, ,
Language
Pages 47
Quality Good
Size 2 MB
Download Status Available

जिसने सेब के बीज बोए का संछिप्त विवरण : दो साल की उम्र में जॉन की माँ का देहांत हो गया। तब शायद उसके दादा-दादी और बड़ी बहिन एलिजाबेथ ने ही उसकी परवरिश की होगी। किसी को इसके बारे में पक्की तौर पर नहीं पता। पर जब जॉन के पिता युद्ध से वापिस लौटे तो वे अपने साथ नई पत्नी लूसी लेकर आए.तब जॉन की उम्र छह साल की थी…….

Jisane Seb Ke Beej Boye PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Do sal ki umr mein John kee man ka dehant ho gaya. Tab shayad usake dada-dadi aur badi bahin Alijabeth ne hee usaki paravarish kee hogi. Kisi ko isake bare mein pakki taur par nahin pata. Par jab jon ke pita yuddh se vapis laute to ve apane sath nayi patni loosee lekar aae. Tab john kee umr chhah sal kee thee…………
Short Description of Jisane Seb Ke Beej Boye PDF Book : John’s mother died at the age of two. Then perhaps her grandparents and elder sister Elizabeth would have raised her. No one knows for sure. But when John’s father returned from the war, he brought with him new wife Lucy. John was six years old…………
“कोई शत्रु नहीं, बल्कि मनुष्य का मन ही है जो उसे पथभ्रष्ट करता है।” बुद्ध
“It is a man’s own mind, not his enemy or foe, that lures him to evil ways.” Buddha

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment