काव्यानुवाद की समस्याएँ : भोलानाथ तिवारी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – साहित्य | Kavyanuwad Ki Samasyaen : by Bholanath Tiwari Hindi PDF Book – Literature (Sahitya)

काव्यानुवाद की समस्याएँ : भोलानाथ तिवारी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - साहित्य | Kavyanuwad Ki Samasyaen : by Bholanath Tiwari Hindi PDF Book - Literature (Sahitya)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name काव्यानुवाद की समस्याएँ / Kavyanuwad Ki Samasyaen
Author
Category, , ,
Language
Pages 170
Quality Good
Size 2.8 MB
Download Status Available

काव्यानुवाद की समस्याएँ का संछिप्त विवरण : ‘अनुवाद’ आज के युग की अनिवार्य आवश्यकता है, और इसलिए यह आवश्यक है कि उसके सम्बद्ध विभिन्न प्रकार की समस्याओं पर गंभीरता से विचार किया जाये | हिंदी में इस दिशा में अभी तक विशेष कार्य नहीं हुआ है | इसी कमी की पूर्ति के लिए ‘अनुवाद ग्रंथमाला’ का प्रारंभ किया गया है | इस ग्रंथमाला की तीन पुस्तकें है…….

Kavyanuwad Ki Samasyaen PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Anuwad aaj ke yug kee anivary aavashyakta hai, aur islie yah aavashyak hai ki uske sambaddh vibhinn prakar ki samasyaon par gambhirta se vichar kiya jaye. Hindi mein is disha mein abhi tak vishesh kary nahin hua hai. Isi kami ki purti ke lie anuvad granthmala ka prarambh kiya gaya hai. Is granthmala ki teen pustaken hai…………
Short Description of Kavyanuwad Ki Samasyaen PDF Book : ‘Translation’ is an essential requirement of today’s era, and therefore it is necessary to consider seriously the various types of problems associated with it. There is no special work in Hindi in this direction so far. In order to fulfill this shortcoming, ‘translation texts’ has been started. This book has three books……………
“सदा जवान रहने के लिए मुख का सौंदर्य नहीं, मस्तिष्क की उड़ान ज़रूरी है।” – मार्टी बुचेला
“When it comes to staying young, a mind-lift beats a face-lift any day.” – Marty Bucella

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment