नागार्जुन के उपन्यासों में आंचलिकता एवं व्यापकता के तत्त्वों का मूल्यांकन : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – साहित्य | Nagarjun Ke Upanyason Mein Aanchalikata Evam Vyapakta Ke Tattvon Ka Mulyankan : Hindi PDF Book – Literature (Sahitya)

नागार्जुन के उपन्यासों में आंचलिकता एवं व्यापकता के तत्त्वों का मूल्यांकन : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - साहित्य | Nagarjun Ke Upanyason Mein Aanchalikata Evam Vyapakta Ke Tattvon Ka Mulyankan : Hindi PDF Book - Literature (Sahitya)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name नागार्जुन के उपन्यासों में आंचलिकता एवं व्यापकता के तत्त्वों का मूल्यांकन / Nagarjun Ke Upanyason Mein Aanchalikata Evam Vyapakta Ke Tattvon Ka Mulyankan
Category, ,
Language
Pages 318
Quality Good
Size 25.6 MB
Download Status Available

नागार्जुन के उपन्यासों में आंचलिकता एवं व्यापकता के तत्त्वों का मूल्यांकन का संछिप्त विवरण : उपन्यास साहित्य की सर्वाधिक लोकप्रिय विधा है। बर्तमान जन-तात्रिक युग मे हिन्दी साहित्य जगत्‌ मे यह विधा शीर्ष स्थान पर है। इसमे जीवन की बहुमुखी विविधता, जटिलता तथा विशदता का समावेश उसके जन-तांत्रिक रूप का द्योतक है। संसार के समस्त क्रिया-कलाप और मनुष्य की सामाजिक, राजनैतिक, आर्थिक, नैतिक तथा धार्मिक समस्याओ का ब्यापक प्रतिविम्ब उपन्यास मे परिलक्षित होता है……………….

Nagarjun Ke Upanyason Mein Aanchalikata Evam Vyapakta Ke Tattvon Ka Mulyankan PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Upanyas sahity ki sarvadhik lokpriy vidha hai. Bartaman jan-tatrik yug me hindi sahity jagat‌ me yah vidha sheersh sthan par hai. Isame jeevan ki bahumukhi vividhata, jatilata tatha vishadata ka samavesh usake jan-tantrik roop ka dyotak hai. Sansar ke samast kriya-kalap aur manushy ki samajik, Rajnaitik, aarthik, naitik tatha dharmik samasyao ka byapak prativimb upanyas me parilakshit hota hai……..
Short Description of Nagarjun Ke Upanyason Mein Aanchalikata Evam Vyapakta Ke Tattvon Ka Mulyankan PDF Book : Novel is the most popular genre of literature. This genre occupies the top position in the Hindi literature world in the current Jan-Tatrik era. The multifaceted diversity, complexity and vividness of life in it signifies its Jan-Tantrik form. The broad reflection of all the activities of the world and the social, political, economic, moral and religious problems of man is reflected in the novel …….
“हम लक्ष्य तक पहुंचने के लिए लक्ष्य से ऊपर निशाना लगाते हैं।” राल्फ वाल्डो इमर्सन
“We aim above the mark to hit the mark.” Ralph Waldo Emerson

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment