प्रवाल भाग २ : अनिल विद्यालंकार द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – साहित्य | Praval Part 1: by Anil Vidhyalankar Hindi PDF Book – Literature (Sahitya)

प्रवाल भाग २ : अनिल विद्यालंकार द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - साहित्य | Praval Part 1: by Anil Vidhyalankar Hindi PDF Book - Literature (Sahitya)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name प्रवाल भाग २ / Praval Part 2
Author
Category, , , , ,
Language
Pages 115
Quality Good
Size 15.5 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : जो सबसे गरीब और कमजोर आदमी तुमने देखा हो, उसकी शकल याद करो और अपने दिल से पूछो कि जो कदम उठाने का तुम विचार कर रहे हो, वह उस आदमी के लिए कितना उपयोगी होगा। क्या उससे उसे कुछ लाभ पहुंचेगा ? क्या उससे वह अपने ही जीवन और भाग्य पर कुछ काबू………..

Pustak Ka Vivaran : Jo Sabase Garib aur Kamjor Aadami Tumane dekha ho, usaki shakal yad karo aur apane dil se Poochho ki jo kadam uthane ka tum vichar kar rahe ho, vah us Aadami ke liye kitana Upyogi hoga. Kya Usase use kuchh labh pahunchega ? Kya usase vah Apane hi jeevan aur bhagy par kuchh kabu……….

Description about eBook : Recall the face of the poorest and weakest man you have seen and ask from your heart how useful the step you are thinking of taking. Will it benefit him? Does he control his own life and destiny………..

“यदि कोई व्यक्ति धन के प्रति अपनी सोच या रवैये को ठीक कर लेता है, इससे उसके जीवन में लगभग हर दूसरे पहलू को ठीक करने में सहायता मिलती है।” ‐ बिल्ली ग्राहम
“If a person gets his attitude toward money straight, it will help straighten out almost every other area in his life.” ‐ Billy Graham

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment