प्रेमचंद, गोर्की एवं लू शुन का कथा साहित्य : फणीश सिंह द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – साहित्य | Premchand, Gorki Evam Loo Shun Ka Katha Sahitya : by Fanish Singh Hindi PDF Book – Literature (Sahitya)

प्रेमचंद, गोर्की एवं लू शुन का कथा साहित्य : फणीश सिंह द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - साहित्य | Premchand, Gorki Evam Loo Shun Ka Katha Sahitya : by Fanish Singh Hindi PDF Book - Literature (Sahitya)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name प्रेमचंद, गोर्की एवं लू शुन का कथा साहित्य / Premchand, Gorki Evam Loo Shun Ka Katha Sahitya
Author
Category, , ,
Language
Pages 106
Quality Good
Size 26 MB
Download Status Available

प्रेमचंद, गोर्की एवं लू शुन का कथा साहित्य पुस्तक का कुछ अंशडॉ. फणीश सिंह हिन्दी के जाने माने प्रतिष्ठित लेखक हैं। वे लगातार सृजन कर्म में लगे रहते हैं। यह बड़ी बात है। उन्होंने साहित्य क्षेत्र में तीन तरह के काम किये हैं एक तो यह कि प्रसिद्ध विद्वानों और नेताओं के भाषणों का संकलन किया है। इस तरह के एक सौ भाषणों का संग्रह बहुत ही ज्ञानवर्द्धओ और उपयोगी है। आज की पीढ़ी अपनी पूर्वज पीढ़ी के समय की परिस्थिति, राजनीति और संस्कृति को जान सकती है। दूसरा काम यह है कि साहित्य से सम्बन्धित विषयों पर भी उन्होंने जम के लिखा है। इस तरह का काम करने वाले हिन्दी में बहुत नहीं हैं………

Premchand, Gorki Evam Loo Shun Ka Katha Sahitya PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Dr. Fanish Singh hindi ke jane mane pratishthit lekhak hain. Ve lagatar srjan karm mein lage rahate hain. Yah badi bat hai. Unhonne sahity kshetra mein teen tarah ke kam kiye hain ek to yah ki prasiddh vidvanon aur netaon ke bhashanon ka sankalan kiya hai. Is tarah ke ek sau Bhashanon ka sangrah bahut hi Gyanavarddho aur upayogi hai. Aaj ki peedhi apni poorvaj peedhee ke samay ki paristhiti, Rajneeti aur sanskrti ko jan sakatee hai. Doosara kam yah hai ki sahity se sambandhit vishayon par bhi unhonne jam ke likha hai. Is tarah ka kam karne vale hindi mein bahut nahin hain………
Short Passage of Premchand, Gorki Evam Loo Shun Ka Katha Sahitya Hindi PDF Book : Dr. Phaneesh Singh is a well-known Hindi writer. They are constantly engaged in the work of creation. This is a big deal. He has done three types of work in the field of literature, one is that he has compiled the speeches of famous scholars and leaders. A collection of one hundred such speeches is very informative and useful. Today’s generation can know the situation, politics and culture of the time of their ancestors. The second thing is that he has written extensively on subjects related to literature. There are not many people in Hindi who do this type of work…….
“एक सफल व्यक्ति और असफल व्यक्ति में साहस का या फिर ज्ञान का अंतर नहीं होता है बल्कि यदि अंतर होता है तो वह इच्छाशक्ति का होता है।” ‐ विसेंट जे. लोम्बार्डी
“The difference between a successful person and others is not a lack of strength, not a lack of knowledge, but rather in a lack of will.” ‐ Vincent J. Lombardi

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment