संस्कृत शास्त्रों का इतिहास : बलदेव उपाध्याय द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Sanskrit Shastron Ka Itihas : by Baldev Upadhyay Hindi PDF Book

संस्कृत शास्त्रों का इतिहास : बलदेव उपाध्याय द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Sanskrit Shastron Ka Itihas : by Baldev Upadhyay Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name संस्कृत शास्त्रों का इतिहास / Sanskrit Shastron Ka Itihas
Author
Category, ,
Pages 656
Quality Good
Size 12 MB
Download Status Available

संस्कृत शास्त्रों का इतिहास का संछिप्त विवरण : मानव जीवन को सुखमय बनाने के लिए, स्वस्थ शरीर की स्वास्थ्य रक्षा के लिए तथा व्याधिग्रस्त शरीर के रोगों के निवारण के लिए महर्षियों ने अपनी प्रतिभा, अनुभव तथा प्रयोगों के बल पर जिस शास्त्र को उत्पन किया उसी का नाम है आयुर्वेद’। किसी भी शास्त्र के दो अंग होते हैं……..

Sanskrit Shastron Ka Itihas PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Manav jivan ko sukhamay banane ke lie, svasth sharir ki svasthy raksha ke lie tatha vyadhigrast sharir ke rogon ke nivaran ke lie maharshiyon ne apani pratibha, anubhav tatha prayogon ke bal par jis shastr ko utpan kiya usi ka nam hai Ayurved. Kisi bhi shastr ke do ang hote hain.
Short Description of Sanskrit Shastron Ka Itihas PDF Book : To make human life happy, to protect the health of a healthy body and to eliminate the diseases of the diseased body, the name of the Ayurveda which is produced by the Maharsis on the strength of their talents, experiences and experiments is called Ayurveda. Any scripture has two limbs………
“भारी सफलता सर्वोत्तम प्रतिशोध है।” ‐ फ्रेंक सिनात्रा
“The best revenge is massive success.” ‐ Frank Sinatra

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment