सभी मित्र, हस्तमैथुन के ऊपर इस जरूरी विडियो को देखे और नाम जप की शक्ति को अपने जीवन का जरुरी हिस्सा बनाये
वीडियो देखें

हिंदी संस्कृत मराठी ब्लॉग

श्यामनारायण पाण्डेय / Shyam Narayan Pandeya

श्यामनारायण पाण्डेय : कृष्णचन्द्र लाल द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - जीवनी | Shyam Narayan Pandey : by Krishna Chandra Lal Hindi PDF Book - Biography (Jeevani)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name श्यामनारायण पाण्डेय / Shyam Narayan Pandeya
Author
Category, , , , , ,
Language
Pages 128
Quality Good
Size 4 MB
Download Status Available

सभी मित्र हस्तमैथुन के ऊपर इस जरूरी विडियो को देखे, ज्यादा से ज्यादा ग्रुप में शेयर करें| भगवान नाम जप की शक्ति को पहचान कर उसे अपने जीवन का जरुरी हिस्सा बनाये|

पुस्तक का विवरण : जिस समय पाण्डेय जी ने काव्य-रचना आरम्भ की उस समय भारतीय स्वाधीनता-संघर्ष महात्मा गाँधी के नेतृत्व से पूरी व्यापकता के साथ अपने लक्ष्य की जोर अग्रसर हो चुका था। देश की जनता आजादी के लिए महात्मा गाँधी के नेतृत्व ने इस तरह संगठित हो गयी थी कि वह उनके आदेशों-निर्देशों का पालन अपने परम कर्तव्यों के रूप में करती थी……

Pustak Ka Vivaran : Jis Samay Pandey jee ne kavy-Rachana Aarambh ki us samay bharatiya svadheenata-sangharsh Mahatma Gandhi ke Netrtv se poori vyapakata ke sath apane lakshy kee jor agrasar ho chuka tha. Desh kee janata Aajadee ke liye mahatma Gandhi ke netrtv ne is tarah sangathit ho gayi thee ki vah unake Aadeshon-Nirdeshon ka Palan apane param karttavyon ke Roop mein karati thi………

Description about eBook : At the time when Pandey ji started composing poetry, the struggle for independence of India had become more and more widespread with the leadership of Mahatma Gandhi. Mahatma Gandhi’s leadership was organized in such a way that he followed his orders and instructions as his supreme duties for the people’s freedom of the country ……

“एक श्रेष्ठ व्यक्ति अपनी बोली में पीछे लेकिन अपने कर्म में आगे रहता है।” कन्फ़्यूशियस, दार्शनिक और शिक्षक
“A superior man is modest in his speech, but exceeds in his actions.” Confucius, philosopher and teacher

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Leave a Comment