स्कंदगुप्त : जयशंकर प्रसाद द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – नाटक | Skandagupta : by Jayshankar Prasad Hindi PDF Book – Drama (Natak)

Book Nameस्कंदगुप्त / Skandagupta
Author
Category, , , , ,
Language
Pages 160
Quality Good
Size 16 MB

पुस्तक का विवरण : कहा जाता है, गुप्तवंशीय सम्राट चन्द्रगुप्त विक्रमादित्य ने मालव और सौराष्ट्र के पश्चिमीय क्षत्रपों को पराजित किया, जो शक थे। इसलिए यहीं चन्द्रगुप्त विक्रमादित्य था। सौराष्ट्र में रुद्रसिंह तृतीय के बाद किसी के सिक्के नहीं मिलते; इसलिए यह माना जाता है कि इसी चन्द्रगुप्त ने शकों को पराजित कर करके शकों को निर्मूल किया …..

Pustak Ka Vivaran : Kaha Jata hai, Guptavansheey samrat chandragupt vikramadity ne malav aur saurashtr ke pashchimeey kshatrapon ko parajit kiya, Jo shak the. isaliye yahin chandragupt vikramadity tha. Saurashtr mein rudrasinh trteey ke bad kisi ke sikke nahin milate; isaliye yah mana jata hai ki isee chandragupt ne shakon ko parajit kar karake shakon ko nirmool kiya…………

Description about eBook : It is said that the Gupta dynasty emperor Chandragupta Vikramaditya defeated the Western Kshatrapas of Malav and Saurashtra, who were suspected. Hence it was here Chandragupta Vikramaditya. In Saurashtra no coins are found after Rudrasingh III; Therefore it is believed that this Chandragupta defeated the Shakas and cleared them……………

“हम में से प्रत्येक में एक और है जिसे हम नहीं जानते।” कार्ल यंग
“In each of us, there is another one whom we don’t know.” Carl Jung

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment