उपयोगितावाद : उमराव सिंह कारुणिक द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Upyogitavad : by Umrao Singh Karunik Hindi PDF Book

Book Nameउपयोगितावाद / Upyogitavad
Author
Category,
Language
Pages 146
Quality Good
Size 5 MB
Download Status Available

उपयोगितावाद का संछिप्त विवरण : बहुत दिन हुवे लेखक ने इस पुस्तक का हिन्दी में अनुवाद करने का विचार किया था किंतु यह मालूम होने पर, कि साहित्यचर्या पं० रामावतार जी पाण्डेय इस पुस्तक का अनुवाद ग्रन्थ-रत्नाकर कार्यालय के लिए कर रहे हैं, यह विचार छोड दिया था………

Upyogitavad PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Bahut din huye lekhak ne is pustak ka hindi me anuvaad karane ka vichaar kiya tha kintu yah maaloom hone par kee saahityaachaary pandit ramavatar ji pandey is Pustak ka Anuvaadg granth ratnakaar kaaryaalay ke liye kar rahe hai, Yah vichar chhod diya tha………….
Short Description of Upyogitavad PDF Book : Many authors had thought of translating this book into Hindi, but after knowing it, Pandit Ramavtar Ji Pandey had left the idea of doing this book for the text book Ratnakar……………
“वह व्यक्ति समर्थ है जो यह मानता है कि वह समर्थ है।” ‐ बुद्ध
“He is able who thinks he is able.” ‐ Buddha

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment