वो सर्द रात : नारायण सिंह राव ‘सैलाब’ द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Vo Sard Rat : by Narayan Singh Rav ‘Sailab’ Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

Book Nameवो सर्द रात / Vo Sard Rat
Author
Category, , , ,
Language
Pages 32
Quality Good
Size 1 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : पता चला, एक गाय बस के सामने आ गई थी. चालक नियंत्रण न रख सका. उसने ब्रेक लगाकर बस को रोकने की कोशिश जरुर की किन्तु बस गाय से टकरा ही गई. सड़क पर खून ही खून बहने लगा. मूक जानवर सड़क के एक कौने में पड़ा कराह रहा था. उसकी टूटती सास चहूँ और तेज़ी से हो रहे विकास पर मानो प्रश्नचिंह लगा रही थी. बस में सवारियों की अलग-अलग प्रतिक्रियाएं थी………

Pustak Ka Vivaran : Pata Chala, Ek Gay bas ke Samane aa gayi thi. Chalak Niyantran na rakh saka. Usne break lagakar bas ko rokane ki koshish jarur ki kintu bas gay se takara hi gayi. Sadak par khoon hi khoon bahane laga. Mook janvar sadak ke ek kaune mein pada karah raha tha. Uski Tootati sas chahoon aur Tezi se ho rahe vikas par mano prashnachinh laga rahi thi. Bas mein savariyon ki Alag-Alag Pratikriyayen thi…………

Description about eBook : It turned out, a cow had come in front of the bus. The driver could not control. He tried to stop the bus by applying brakes but the bus collided with the cow. Blood started flowing on the road. The mute animal was moaning in a corner of the road. Her broken mother-in-law was questioning her and her rapid development. There were different reactions of the passengers in the bus………

“कल तो चला गया। आने वाले कल अभी आया नहीं है। हमारे पास केवल आज है। आईये शुरुआत करें।” – मदर टेरेसा
“Yesterday is gone. Tomorrow has not yet come. We have only today. Let us begin.” – Mother Teresa

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment