अब्दुल रहमान कृत सन्देश रासक : आचार्य हजारीप्रसाद द्विवेदी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – ग्रन्थ | Abdul Rahman Krit Sandesh Rasak : by Acharya Hazariprasad Dwivedi Hindi PDF Book – Granth

अब्दुल रहमान कृत सन्देश रासक : आचार्य हजारीप्रसाद द्विवेदी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - ग्रन्थ | Abdul Rahman Krit Sandesh Rasak : by Acharya Hazariprasad Dwivedi Hindi PDF Book - Granth
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name अब्दुल रहमान कृत सन्देश रासक / Abdul Rahman Krit Sandesh Rasak
Author
Category, ,
Language
Pages 235
Quality Good
Size 11.5 MB
Download Status Available

अब्दुल रहमान कृत सन्देश रासक का संछिप्त विवरण : सन्देश-रासक मुनि जिनविजयजी द्वारा संपादित बहुत ही महत्वपूर्ण ग्रन्थ है | मुनिजी ने अनेक दुर्लभ ग्रन्थरत्रों का उद्धार किया है है | निस्संदेह सन्देश-रासक इन दुर्लभ ग्रंथरल्नों का उद्धार किया है | निस्सन्देह सन्देश-रासक इन दुर्लभ ग्रन्थरल्रों में श्रेष्ठ स्थान का अधिकारी है | यह भाषा-काव्य के सर्वप्रथम मुसलमान लेखक अब्दुलरहमान की बहुत ही सुन्दर रचना है…

Abdul Rahman Krit Sandesh Rasak PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Sandesh-rasak muni jinvijayaji dwara sampadit bahut hi mahatvapurn granth hai. Muniji ne anek durlabh grantharatnon ka uddhar kiya hai hai. Nissandeh sandesh-rasak in durlabh granthratnon ka uddhar kiya hai. Nissandeh sandesh-rasak in durlabh grantharatnon mein shreshth sthan ka adhikari hai. Yah bhasha-kavy ke sarvapratham musalman lekhak abdularahamaan ki bahut hi sundar rachna hai…………
Short Description of Abdul Rahman Krit Sandesh Rasak PDF Book : Message-Rasaik Muni is a very important book edited by Jinvijayji. Muniji has saved many rare greedhrutons. Undoubtedly the message has saved these rare granthons. Undoubtedly the message-Rasak is the best place in these rare granththans. This is the very beautiful creation of the first Muslim writer of language poet Abdulrahman………………
“जो कुछ भी इस विश्व को अघिक मानवीय और विवेकशील बनाता है उसे प्रगति कहते हैं; और केवल यही मापदंड हम इसके लिये अपना सकते हैं।” ‐ डब्ल्यू. लिपमैन
“Anything that makes the world more humane and more rational is progress; that’s the only measuring stick we can apply to it.” ‐ W. Lippmann

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment