अग्र भारत (नई सोच का अखबार) 24 मई 2021 : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – पत्रिका | Agra Bharat (Nayi Soch Ka Akhbar) 24 May 2021 : Hindi PDF Book – Magazine (Patrika)

अग्र भारत (नई सोच का अखबार) 24 मई 2021 : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - पत्रिका | Agra Bharat (Nayi Soch Ka Akhbar) 24 May 2021 : Hindi PDF Book - Magazine (Patrika)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name अग्र भारत (नई सोच का अखबार) 24 मई 2021 / Agra Bharat (Nayi Soch Ka Akhbar) 24 May 2021
Category,
Language
Pages 7
Quality Good
Size 2 MB
Download Status Available

अग्र भारत (नई सोच का अखबार) 24 मई 2021 पीडीऍफ़ पुस्तक का संछिप्त विवरण : विश्व के अधिकाँश विकसित देश पुरुष या किशोर से एक स्त्री द्वारा बलात्कार को संगीन अपराध मानते हैं और उस पर सजा का प्रावधान भी है। लेकिन भारत जैसा बुद्धिजीवियों के देश में पुरुष बलात्कार जैसी बातों पर कोई समीक्षा तक नहीं करना चाहता। 2016 के बाद हुए State wise registered rape रिकॉर्ड महिला और पुरुष दोनों का अलग-अलग आँकड़ा आपकी किस वेबसाइट के किस लिंक पर रखा गया……..

Agra Bharat (Nayi Soch Ka Akhbar) 24 May 2021 PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Vishv ke Adhikansh Viksit desh Purush ya Kishore se ek Stri dvara Balatkar ko Sangeen Apradh manate hain aur us par saja ka pravdhan bhi hai. Lekin Bharat jaisa Buddhijeeviyon ke desh mein purush Balatkar jaisi baton par koi Samiksha tak nahin karna chahata. 2016 ke bad huye statai wisai Registered rapai Record mahila aur purush donon ka alag-alag Aankada Apki kis Website ke kis link par rakha gaya…….

Short Description of Agra Bharat (Nayi Soch Ka Akhbar) 24 May 2021 Hindi PDF Book : Most of the developed countries of the world consider rape of a man or a juvenile by a woman as a serious crime and there is a provision of punishment on it. But in a country of intellectuals like India, no one wants to even review things like male rape. State wise registered rape records after 2016, separate data of both male and female were kept on which link of your website…….

 

“निकम्मे लोग सिर्फ खाने पीने के लिए जीते हैं, लेकिन सार्थक जीवन वाले जीवित रहने के लिए ही खाते और पीते हैं।” ‐ सुकरात
“Worthless people live only to eat and drink; people of worth eat and drink only to live.” ‐ Socrates

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment