आगरा घराना : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – साहित्य | Agra Gharana : Hindi PDF Book – Literature (Sahitya)

Book Nameआगरा घराना / Agra Gharana
Author
Category, , ,
Language
Pages 154
Quality Good
Size 31 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरा : आगरा घराने पर ही सेमीनार के आयोजन के पीछे के कारणों को प्रास्ताविक व्याख्यान में दिया गया है। पं. श्रीकृष्ण हलदनकर ने राग प्रस्तुति का विशिष्ट सौंदर्य उदाहरण सहित प्रतिपादित किया है। आगरा घराने के संबंध में भ्रांत घारणाओं के निराकरण के साथ-साथ वर्तमान एवं भविष्य के विद्यार्थियों “के लिए आगरा घराने के अद्वितीय तत्व उन्होंने सर्वसम्मुख रखे……

Pustak Ka Vivaran : Agara gharane par hi semeenar ke aayojan ke peechhe ke Karanon ko prastavik vyakhyan mein diya gaya hai. Pt Shrikrishna haladanakar ne rag prastuti ka vishisht saundary udaharan sahit pratipadit kiya hai. Agara gharane ke sambandh mein bhrant gharanaon ke nirakaran ke sath-sath vartaman evan bhavishy ke vidyarthiyon “ke liye Agra gharane ke advitiy tatv unhonne sarvasammukh rakhe……

Description about eBook : The reasons behind organizing the seminar at Agra Gharana have been given in the preliminary lecture. Pt. Shri Krishna Haldankar has rendered the special beauty of raga presentation with examples. Along with clearing the misconceptions regarding the Agra Gharana, he put forth the unique elements of the Agra Gharana for the present and future students…….

“कल तो चला गया। आने वाले कल अभी आया नहीं है। हमारे पास केवल आज है। आईये शुरुआत करें।” ‐ मदर टेरेसा
“Yesterday is gone. Tomorrow has not yet come. We have only today. Let us begin.” ‐ Mother Teresa

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment