अरस्तू का काव्य – शास्त्र : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – साहित्य | Aristotle Ka Kavya – Shastra : Hindi PDF Book – Literature (Sahitya)

अरस्तू का काव्य - शास्त्र : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - साहित्य | Aristotle Ka Kavya - Shastra : Hindi PDF Book - Literature (Sahitya)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name अरस्तू का काव्य – शास्त्र / Aristotle Ka Kavya – Shastra
Author
Category, , ,
Language
Pages 264
Quality Good
Size 8 MB
Download Status Available

अरस्तू का काव्य – शास्त्र का संछिप्त विवरण : अरस्तू ने काव्य की परिभाषा नहीं की, विवेचन किया हैं। वैसे तो स्वभाव से ताकिक होने के कारण वे परिभाषा से बचने का प्रयत्न नहीं करते–वास्तव में परिभाषा उनकी विवेचत-शैली का एक अग ही है, फिर भी काव्य का सूत्रवद्ध लक्षण उन्होने कही नही दिया , परन्तु उनके विवेचन के आधार पर प्राय उन्ही के शब्दों में काव्य-लक्षण का निर्माण और……

Aristotle Ka Kavya – Shastra PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Aristotle ne kavy ki Paribhasha nahin ki, Vivechan kiya hain. Vaise to svabhav se takik hone ke karan ve paribhasha se bachane ka prayatn nahin karate – Vastav mein Paribhasha unki vivechat-shaili ka ek ag hi hai, phir bhi kavy ka sootravaddh lakshan unhone kahi nahi diya , parantu unake vivechan ke adhar par pray unhi ke shabdon mein kavy-lakshan ka nirman aur……..
Short Description of Aristotle Ka Kavya – Shastra PDF Book : Aristotle did not define poetry, he discussed it. By the way, being so in nature, he does not try to avoid the definition – in fact the definition is a part of his style of interpretation, yet he did not give any formulaic features of poetry, but on the basis of his discussion, he often Formation of poetic signs in the words of and………
“अनुशासन, लक्ष्यों और उपलब्धि के बीच का सेतु है।” -जिम रॉन
“Discipline is the bridge between goals and accomplishment.” – Jim Rohn

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment