आत्म पूजा उपनिषद् – 2 : ओशो द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – आध्यात्मिक | Atma Puja Upanishad – 2 : by Osho Hindi PDF Book – Spiritual (Adhyatmik)

आत्म पूजा उपनिषद् – 2 : ओशो द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – आध्यात्मिक | Atma Puja Upanishad – 2 : by Osho Hindi PDF Book – Spiritual (Adhyatmik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name आत्म पूजा उपनिषद् – 2 / Atma Puja Upanishad – 2
Author
Category, ,
Language
Pages 127
Quality Good
Size 808 KB

पुस्तक का विवरण : वजू कर रहा हूं, स्वयं को अपने चून में धो रहा हूं। तुम अपने को पानी से कैसे धो सकते हो ? यह उत्तर एक गहरा अर्थ दे देता है। वास्तव में उसका मतलव है कि जब तक आप मन नहीं जाते, आप दुआ के लिए अपने को शुद्ध कैसे कर सकते हैं खून से ? वजू का अर्थ होता है मर जाना। केवल मृत्यु ही सही अर्थों में शुद्धि होती है। जब आप मर जाते हैं, तो आप प्रार्थना करने के योग्य हो जाते हैं। अब तक आप मरते नहीं, आप प्रार्थना नहीं कर सकते……..

आत्म पूजा उपनिषद् – 2 : ओशो द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – आध्यात्मिक | Atma Puja Upanishad – 2 : by Osho Hindi PDF Book – Spiritual (Adhyatmik)

Pustak Ka Vivaran : Vaju kar raha hoon, Svayan ko apane choon mein dho raha hoon. Tum apane ko Pani se kaise dho sakate ho ? Yah uttar ek gahara arth de deta hai. Vastav mein uska Matlav hai ki jab tak aap man nahin jate, aap duya ke liye apane ko shuddh kaise kar sakate hain khoon se ? Vajoo ka arth hota hai mar jana. Keval mrtyu hi sahi arthon mein shuddhi hoti hai. Jab aap mar jate hain, to aap prarthana karne ke yogy ho jate hain. Ab tak aap marate nahin, aap prarthana nahin kar sakate……..

Description about eBook : I am doing wudu, I am washing myself in my hands. How do you wash yourself with water? This answer carries a deeper meaning. In fact it means that unless you don’t mind, how can you purify yourself with blood for prayer? Waju means to die. Only death is purification in the true sense. When you die, you are able to pray. Till now you don’t die, you can’t pray…….

“मेरे विचार से आप प्रतिदिन दो में से कोई एक काम करते हैं: स्वास्थ्य वर्धन करना या अपने शरीर में रोग पैदा करना।” ‐ एडेल्लेय
“As I see it, every day you do one of two things: build health or produce disease in yourself.” ‐ Adelle

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

3 thoughts on “आत्म पूजा उपनिषद् – 2 : ओशो द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – आध्यात्मिक | Atma Puja Upanishad – 2 : by Osho Hindi PDF Book – Spiritual (Adhyatmik)”

Leave a Comment