चिम्पैंज़ियों की सखी जेन गुडल : आशुतोष उपाध्याय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Chimpanziyon Ki Sakhi Jane Goodall : by Ashutosh Upadhyay Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

चिम्पैंज़ियों की सखी जेन गुडल : आशुतोष उपाध्याय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - बच्चों की पुस्तक | Chimpanziyon Ki Sakhi Jane Goodall : by Ashutosh Upadhyay Hindi PDF Book - Children's Book (Bachchon Ki Pustak)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name चिम्पैंज़ियों की सखी जेन गुडल / Chimpanziyon Ki Sakhi Jane Goodall
Author
Category, , ,
Language
Pages 15
Quality Good
Size 2.5 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : इंसानी करतूतों के कारण आज धरती में जीवन का भविष्य संकट में घिरा नजर आता है।वैज्ञानिक चेता रहे है कि अगर हमने अपनी आदतें नहीं बदली और प्रकृति का अनियंत्रित दोहन जारी रखा तो हम शायद अगली सदी का मुंह नहीं देख पाएं। वे कह रहे है कि हमें विकास के ‘मनुष्य-केंद्रित’ दृष्टिकोण से बाहर आकर देखना चाहिए। धरती तभी उर्वरा और जीने लायक बनी रह सकती……….

Pustak Ka Vivaran : Insani Cartooton ke karan aaj dharati mein jeevan ka bhavishy sankat mein ghira Najar aata hai. Vaigyanik cheta rahe hai ki agar hamane apani Aadaten nahin badali aur prakrti ka aniyantrit dohan jari rakha to ham shayad agali sadi ka munh nahin dekh payen. Ve kah rahe hai ki hamen vikas ke manushy-kendrit drshtikon se bahar Aakar dekhana chahiye. dharati tabhi urvara aur jeene layak bani rah sakati hai…………

Description about eBook : Due to human misdeeds, the future of life in the earth is seen in crisis today. Scientists have been warning that if we do not change our habits and continue to exploit nature uncontrollably, we might not be able to see the face of the next century. They are saying that we should come out of the ‘man-centered’ view of development. Only then can the earth remain fertile and liveable………………

“एक अच्छी पुस्तक पढ़ने का पता तब चलता है जब उसका आखिरी पृष्ठ पलटते हुए आपका कुछ ऐसा लगे जैसे आपने एक मित्र को खो दिया।” ‐ पॉल स्वीनी
“You know you’ve read a good book when you turn the last page and feel a little as if you have lost a friend.” ‐ Paul Sweeney

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment