चोर की प्रेमिका : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – उपन्यास | Chor Ki Premika : Hindi PDF Book – Novel (Upanyas)

चोर की प्रेमिका : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - उपन्यास | Chor Ki Premika : Hindi PDF Book - Novel (Upanyas)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name चोर की प्रेमिका / Chor Ki Premika
Category, , , ,
Pages 224
Quality Good
Size 8 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : मुक्तय्यन तैरता हुआ आगे बढ़ा और कमल के पौधों के पास पहुंचा। यह कैसी भ्रान्ति ? फूल के स्थान पर मधुर मुस्कान से भरा एक सुन्दर मुख उसे नजर आया। मुक्तय्यन ने एक बार गर्दन हिलाई तो वह चेहरा ओझल हो गया और वही फूल सामने आ गया। मुक्तय्यन ने उसे ठठल-समेत पकड़कर एक झटके में तोड़ डाला……..

Pustak Ka Vivaran : Muktayyan tairata huya Aage badha aur kamal ke paudhon ke pas pahuncha. Yah kaisi bhranti ? phool ke sthan par madhur muskan se bhara ek sundar mukh use najar aaya. Muktayyan ne ek bar gardan hilai to vah chehara ojhal ho gaya aur vahi phool samane aa gaya. Muktayyan ne use thathal-samet pakadakar ek jhatake mein tod dala………

Description about eBook : Muktayyan floated forward and reached the lotus plants. What kind of fallacy is this? In place of the flower, he saw a beautiful face filled with sweet smile. Once Muktayyan shook his neck, that face disappeared and the same flower came out. Muktayyan grabbed him and broke him in one stroke ……….

“ऐसा व्यक्ति जो एक घंटे का समय बरबाद करता है, उसने जीवन के मूल्य को समझा ही नहीं है।” – चार्ल्स डारविन
“A man who dares to waste one hour of time has not discovered the value of life.” -Charles Darwin

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment