गर्म पहाड़ : डॉ. अनिता भटनागर जैन द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Garm Pahad : by Dr. Anita Bhatnagar Jain Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Nameगर्म पहाड़ / Garm Pahad
Author
Category, , , , ,
Language
Pages 28
Quality Good
Size 8.5 MB
Download Status Not Available
पुस्तक का डाउनलोड लिंक नीचे हरी पट्टी पर दिया गया है|

गर्म पहाड़ का संछिप्त विवरण : नानी कृष्ण भगवान की मूर्ति को नए कपड़े पहना रही थीं और बड़बड़ा रही थीं, “अब तो मंदिर में भी शंकरजी पर दूध चढ़ाकर लोग खाली थैली वहीं फेंक देते हैं, बाहर रखे डिब्बे में नहीं डालते । अरे! भगवान के पास तो कूड़ा मत फेंको । यह तो ईश्वर का अपमान है। सच्चे मन और कर्म दोनों से ही तो ईश्वर प्रसन्न होते हैं…….

Garm Pahad PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Nani Krishna Bhagavan kee Moorti ko naye kapade pahana rahee theen aur badabada rahee theen, “Ab to Mandir mein bhee Shankarajee par doodh chadhakar log khali thailee vaheen phenk dete hain, bahar rakhe dibbe mein nahin dalate . Are! bhagavan ke pas to kooda mat phenko . Yah to Eshvar ka Apamaan hai. sachche man aur karm donon se hee to ishvar prasann hote hain……..
Short Description of Garm Pahad PDF Book : Nani Krishna was wearing new clothes and mumbling to the idol of Lord Bhagwan, “Now even in the temple, by throwing milk on Shankarji, people throw empty bags there, do not put them in the box outside. Hey! Do not throw garbage near God. This is an insult to God. God is pleased with both true mind and action …….
“सौंदर्य शक्ति है; और मुस्कान उसकी तलवार है।” ‐ जॉन रे
“Beauty is power; a smile is it’s sword.” ‐ John Ray

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment