हमारे नाटककार : राजेन्द्र सिंह गौड़ द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – साहित्य | Hamare Natak Kar : by Rajendra Singh Gaud Hindi PDF Book – Literature (Sahitya)

Book Nameहमारे नाटककार / Hamare Natak Kar
Author
Category, , ,
Language
Pages 329
Quality Good
Size 7 MB
Download Status Available

हमारे नाटककार का संछिप्त विवरण : मैंने अपनी इस पुस्तक में केवल दस नाटककारों को ही स्थान दिया है। इसका अर्थ नहीं कि हिंदी के अन्य नाटककार नगण्य है। हिंदी के सभी नाटककार मेरे लिए परम पूज्य है। इस पुस्तक मैं मेरा उद्देश्य समष्टि रूप से हिंदी-नाटककारों पर विचार करना नहीं है। मैं विशेषत: विद्यार्थियों के लिए लिखता हूँ और अपने विषय प्रतिपादन में उन्ही की सीमाओं……

Hamare Natak Kar PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Mainne Apani is Pustak mein keval das Natakakaron ko hee sthan diya hai. Isaka arth nahin ki hindi ke any Natakkar Nagany hai. Hindi ke sabhi Natakakar mere liye param poojy hai. Is Pustak main mera uddeshy samashti roop se Hindi-Natakakaron par vichar karana nahin hai. Main visheshat: vidyarthiyon ke liye likhata hoon aur apane vishay pratipadan mein unhee kee seemaon………….
Short Description of Hamare Natak Kar PDF Book : I have given place to only ten playwrights in my book. This does not mean that other Hindi playwrights are insignificant. All the Hindi playwrights are extremely revered for me. My purpose in this book is not to consider the Hindi-dramatists collectively. I write specifically for students and their limitations in rendering my subject……………
“हमारे लक्ष्य निर्धारित करते हैं कि हम क्या बनने जा रहे हैं।” ‐ जूलियस इरविंग, बास्केटबाल सितारा
“Goals determine what you are going to be.” ‐ Julius Erving, Basketball Star

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment