जवाहर लालजी की जीवनी : कुन्दनमल जी द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Jawahar Lalji Ki Jivani : by Kundan Mal Ji Hindi PDF Book

Book Nameजवाहर लालजी की जीवनी / Jawahar Lalji Ki Jivani
Author
Category, ,
Pages 529
Quality Good
Size 25.48 MB
Download Status Available

जवाहर लालजी की जीवनी का संछिप्त विवरण : महात्मा गाधी ने खादी का प्रचार हिन्दुस्तान में सन्‌ 920 से किया | महात्मा जी की खादी की तरफ देखने की इष्टि आर्थिक और राजकीय थी, परन्तु पूज्यश्री ने उसमे अहिंसा का पालन देखा । चरबी लगाये हुए मित्र के कपडो का उपयोग करने से खादी का उपयोग करने में अहिंसा का पालन ज्यादा होता है। यह देखकर पूज्यश्री ने खादी का ही कपडा लेना मंजूर किया और पूज्यश्री व्याख्यानो मे भी श्रावको को उसका उपदेश बहृत जोर से करने लगे…..

Jawahar Lalji Ki Jivani PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Mahatma gandhi ne khadie ka prachar hindustan mein san 1920 se kiya. Mahatma ji ki khadi ki taraph dekhane ki drshti arthik aur rajakiy thi, parantu poojyashri ne usame ahinsa ka palan dekha. Charabi lagaye hue mil ke kapado ka upayog karane se khadi ka upayog karane mein ahinsa ka palan jyada hota hai. Yah dekhakar poojyashri ne khadi ka hi kapada lena manjoor kiya aur poojyashri vyakhyano me bhi shravako ko usaka upadesh bahut jor se karane lage……….
Short Description of Jawahar Lalji Ki Jivani PDF Book : Mahatma Gandhi introduced the Khadi in India from the 1920’s. The sight of seeing Mahatma ji on Khadi was economic and political, but Pujya Shree saw him pursuing non-violence. Nonviolence is more in the use of Khadi than the use of fat mixed in the mat. On seeing this, Pujya Shree sanctioned the clothes of Khadi and in Pujya Shree Lecture, he started preaching his message to Shravako…………
“आपको अच्छा करने का अधिकार बुरा करने के अधिकार के बिना नहीं मिल सकता। माता का दूध शूरवीरों का ही नहीं, वधिकों का भी पोषण करता है।” ‐ जॉर्ज बर्नार्ड शॉ
“You cannot have power for good without having power for evil too. Even mother’s milk nourishes murderers as well as heroes.” ‐ George Bernard Shaw

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment