कृषि हानिकारक किट-पतंग : मोतीलाल सेठ द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – कृषि | Krishi Hanikarak Kit-Patang : by Motilal Seth Hindi PDF Book – Agriculture ( Krishi )

कृषि हानिकारक किट-पतंग : मोतीलाल सेठ द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - कृषि | Krishi Hanikarak Kit-Patang : by Motilal Seth Hindi PDF Book - Agriculture ( Krishi )
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name कृषि हानिकारक किट-पतंग / Krishi Hanikarak Kit-Patang
Category
Language
Pages 108
Quality Good
Size 22 MB
Download Status Available

कृषि हानिकारक किट-पतंग का संछिप्त विवरण : यह पुस्तक सरल हिंदी भाषा में उन ३४ प्रमुख कृषि हानिकारक किटपतंगों के ऊपर प्रकाश डालती है, जो उत्तर भारत के किसानो की फसलो को हानिपहुंचाते रहते है | इस पुस्तक में इन किट-पतंगों का वर्णन, उनका जीवन इतिहास तथा उनके नियंत्रण के प्रमुख साधनों का वर्णन भलीभांति दिया गया है…….

Krishi Hanikarak Kit-Patang PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Yah pustak saral hindi bhasha mein un 34 pramukh krshi hanikarak kitpatangon ke upar prakash dalati hai, jo uttar bharat ke kisano ki phasalo ko hanipahunchate rahte hai. Is pustak mein in kit-patangon ka varnan, unka jeevan itihas tatha unke niyantran ke pramukh sadhanon ka varnan bhalibhanti diya gaya hai…………
Short Description of Krishi Hanikarak Kit-Patang PDF Book : This book sheds light on the 34 major agricultural hazardous chemicals in simple Hindi language, which harm the crops of North India. The description of these kit-kites in this book, their life history and the main modes of their control have been well-described…………….
“रोटी या सुरा या लिबास की तरह कला भी मनुष्य की एक बुनियादी ज़रूरत है। उसका पेट जिस तरह से खाना मांगता है, वैसे ही उसकी आत्मा को भी कला की भूख सताती है।” इरविंग स्टोन
“Art’s a staple. Like bread or wine or a warm coat in winter. Those who think it is a luxury have only a fragment of a mind. Man’s spirit grows hungry for art in the same way his stomach growls for food.” Irving Stone

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment