कुण्ड निर्माण – स्वाहाकार पद्धति : अशोक कुमार गौड़ द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – ग्रन्थ | Kund Nirman – Svahakar Paddhati : by Ashok Kumar Goud Hindi PDF Book – Granth

Book Nameकुण्ड निर्माण - स्वाहाकार पद्धति / Kund Nirman - Svahakar Paddhati
Author
Category,
Language
Pages 211
Quality Good
Size 29.3 MB
Download Status Available

कुण्ड निर्माण – स्वाहाकार पद्धति का संछिप्त विवरण : कुंडभूतल ही क्षेत्रफल है यह भी ठीक नहीं है । जिसप्रकार द्वित्रि हस्तादि कुंड में क्षेत्रफल के आधिक्य होने पर भी न्यूनहोम वचन बल से होता है। इसी प्रकार चर्वादिगुरुद्रव्यहोम में भी अधिक कुंड अहण शास्त्रकारों को अभिप्रेत है। इससे सिद्ध हुआ कि न्यूनाधिक कुंड भी वचन बल से कहीं कर्मोपयोगी होता है। एवं न्यूनाधिक……..

Kund Nirman – Svahakar Paddhati PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Kundabhootal hi kshetraphal hai yah bhi theek nahin hai. Jisaprakar dvitri hastadi kund mein kshetraphal ke aadhiky hone par bhi nyoonahom vachan bal se hota hai. Isi prakar charvadigurudravyahom mein bhi adhik kund ahan shastrakaron ko abhipret hai. Isase siddh huya ki nyoonadhik kund bhi vachan bal se kahin karmopayogi hota hai. Evan Nyoonadhik……..
Short Description of Kund Nirman – Svahakar Paddhati PDF Book : Kundliground is the area, this is also not right. Just as there is an excess of area in the Dwitri Hastadi Kund, even when there is an excess of area, the small vowel happens with force. Similarly, in the Charvadigurudravyahom also, more kunds are meant for ahan scholars. This proved that even more or less kund is more useful than the force of words. And the modifier……..
“अच्छा निर्णय अनुभव से प्राप्त होता है लेकिन दुर्भाग्यवश, अनुभव का जन्म अक्सर खराब निर्णयों से होता है।” रीटा माए ब्राउन
“Good judgment comes from experience and, unfortunately, experience often comes from bad judgment.” Rita Mae Brown

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment