नागरीप्रचारिणी पत्रिका : केशव प्रसाद मिश्र द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – ग्रन्थ | Nagri Pracharini Partika : by Keshav Prasad Mishra Hindi PDF Book – Granth

नागरीप्रचारिणी पत्रिका : केशव प्रसाद मिश्र द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - ग्रन्थ | Nagri Pracharini Partika : by Keshav Prasad Mishra Hindi PDF Book - Granth
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name नागरीप्रचारिणी पत्रिका / Nagri Pracharini Partika
Author
Category, ,
Language
Pages 266
Quality Good
Size 9 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : परलोकगत विशिष्ट विद्या-प्रतिभा-सम्पन्न सत्पुरुषों का श्रद्धापूर्वक स्मरण तथा उनकी स्मृति को साकार बनाने का प्रयत्न हमारा एक आवशयक कर्तव्य है | उसका पालन कर हम उन्हें नहीं, अपने को गौरवान्वित एवं उपकृत करते है | हम जिस भाव से उन्हें देखते है-जैसी श्रद्धा उनके प्रति रखते है………

Pustak Ka Vivaran : Paralokagat vishisht vidya-pratibha-sampann satpurushon ka shraddhapurvak smaran tatha unki smrti ko sakaar banane ka prayatn hamara ek aavashayak kartavy hai. Uska palan kar ham unhen nahin, apne ko gauravanvit evan upakrt karte hai. Ham jis bhav se unhen dekate hai-jaisi shraddha unke prati rakhte hai………..

Description about eBook : Practical remembrance of Parlokya-specific Vidya-Pratibha-Satya Purus and our effort to make their memory come true is our essential duty. By adhering to him, we do not do them, we are honored and worshiped. The kind of faith we see-the kind of reverence they keep……………..

“ऐसा छात्र जो प्रश्न पूछता है, वह पांच मिनट के लिए मूर्ख रहता है, लेकिन जो पूछता ही नहीं है वह जिंदगी भर मूर्ख ही रहता है।” ‐ चीनी कहावत
“The student who asks is a fool for five minutes, but he who does not ask remains a fool forever.” ‐ Chinese Proverb

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment