नानी की कहानी : आर. के. नारायण द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – कहानी | Nani Ki Kahani : by R. K. Narayan Hindi PDF Book – Story (Kahani)

नानी की कहानी : आर. के. नारायण द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - कहानी | Nani Ki Kahani : by R. K. Narayan Hindi PDF Book - Story (Kahani)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name नानी की कहानी / Nani Ki Kahani
Author
Category, ,
Language
Pages 73
Quality Good
Size 2.5 MB
Download Status Available

नानी की कहानी पुस्तक का कुछ अंशसच्चाई और कहानी के बीच की सीमा रेखा बहुत धुँधली होती है और इस कथानक में आत्मकथा और कथा के बीच की यह रेखा एकदम लुप्त हो गयी है। पाठक सवाल पूछ सकते हैं कि इसमें कितना इतिहास है और कितनी कथा। इसका उत्तर मैं खुद नहीं जानता। हर रोज़ जैसे मेरी नानी आगे की कथा बतातीं वैसे ही यह पुस्तक आगे बढ़ती रही। कथा थी कि कैसे नानी की माँ ने अपने पति को खोजने की कोशिश की, यानी कि रोज़ाना के विवरण से मैंने इसकी शुरुआत की कि किस तरह उसकी माँ के बाल-पति एक दिन सिर्फ़ यह कहकर चले गये, “मैं जा रहा हूँ” पर कहाँ, यह नहीं बताया, न कोई पता ही छोडा। लेकिन………

Nani Ki Kahani PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Sachchayi aur kahani ke beech ki Seema rekha bahut dhundhali hoti hai aur is kathanak mein Aatmakatha aur katha ke beech ki yah rekha ekdam lupt ho gayi hai. Pathak Saval poochh sakate hain ki isamen kitana itihas hai aur kitni katha. Isaka uttar main khud nahin janata. Har Roz jaise meri Nani aage ki katha batateen vaise hi yah pustak aage badhati rahee. Katha thee ki kaise Nani ki man ne apne pati ko khojane ki koshish ki, yani ki rozana ke vivran se mainne isakee shuruat ki ki kis tarah uski maan ke bal-pati ek din sirf yah kahkar chale gaye, “Main ja raha hoon” Par kahan, yah nahin bataya, na koi Pata hi chhoda. lekin………
Short Passage of Nani Ki Kahani Hindi PDF Book : The boundary line between fact and fiction is very blurred and in this plot this line between autobiography and fiction has completely disappeared. Readers may question how much of this is history and how much is fiction. I don’t know the answer myself. Every day as my grandmother told the next story, the book kept moving forward. The story was about how Nani’s mother tried to find her husband, that is, I started with a daily account of how her mother’s child-husband left one day just saying, “I’m going.” Didn’t tell where, didn’t leave any address. but………
“आपके द्वारा कुछ ऐसा प्राप्त करना जिसे आपने पहले कभी भी प्राप्त नहीं किया है, आपको अवश्य ही ऐसा व्यक्ति बनना होगा जो आप पहले कभी नहीं थे।” ‐ ब्रिअन ट्रेसी
“To achieve something you’ve never achieved before, you must become someone you’ve never been before.” ‐ Brian Tracy

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment