न्याय-परिचय : श्री किशोरनाथ झा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – ग्रन्थ | Nyay Parichay : by Shri Kishornath Jha Hindi PDF Book – Granth

न्याय-परिचय : श्री किशोरनाथ झा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - ग्रन्थ | Nyay Parichay : by Shri Kishornath Jha Hindi PDF Book - Granth
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name न्याय-परिचय / Nyay Parichay
Author
Category,
Pages 333
Quality Good
Size 6 MB
Download Status Available

न्याय-परिचय का संछिप्त विवरण :  इस समय जीवन की वह मागलिक विला स्मरण आ रही है जब पूज्यपाद गुरुदेव श्री अनन्त लाल ठाकुर ने मुझे ‘न्यायापरिचय’ का हिंदी में अनुवाद करने के लिए प्रेरित किया था और और मैं उनकी इच्छा साकार करने के लिये यथाशक्य प्रयत्रशील हो गया था | न्‍्यायपरिचय के मूल लेखक म० म० तंकवागिद्य जी ने अपनी भूमिका के अंत में लिखा है…….

Nyay Parichay PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Is samay jeevan kee vah magalik vila smaran aa rahi hai jab pujyapad gurudev shri anant laal thakur ne mujhe nyayaparichay ka hindi mein anuvad karne ke lie prerit kiya tha aur aur main unki ichchha saakar karne ke liye yathashaky prayatnashil ho gaya tha. Nyayaparichay ke mool lekhak M. M. tankavagidy ji ne apni bhumika ke ant mein likha hai…………
Short Description of Nyay Parichay PDF Book : At this time the villagers are reminded of life when Pujyadpad Gurudev Shri Anant Lal Thakur had inspired me to translate “Judicialism” into Hindi and I had made a desperate effort to fulfill his wish. M. Tankavagyidi, the original author of Justice Netaji has written at the end of his role………………
“खुशी कोई बनी बनाई वस्तु नहीं है। यह तो आपके कर्मों के परिणाम में निहित है। ” – दलाई लामा
“Happiness is not something ready made. It comes from your own actions. ” – Dalai Lama

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment