पवहारी बाबा : स्वामी विवेकानन्द द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – आध्यात्मिक | Pavhari Baba : by Swami Vivekanand Hindi PDF Book – Adhyatmik (Spiritual)

Book Nameपवहारी बाबा / Pavhari Baba
Author
Category, ,
Language
Pages 36
Quality Good
Size 2.2 MB

पुस्तक का विवरण : आदर्श ही कर्म-जीवन का प्राण है। हम चाहे दार्शनिक विचारों में मग्न रहा करें अथवा दैनिक जीवन के कठोर कर्तव्यों का पालन किया करें, हमारे सम्पूर्ण जीवन में हमारा आदी ही ओत-प्रोत रूप से विधमान रहता है। इसी आदर्श की किरणें सीधी अथवा वक्र गति से प्रतिबिम्बित तथा परावर्तित हो मानो हमारे जीवन-गृह में छिद्र छिद्र में से होकर प्रवेश करती रहती हैं ओर हमें……….

Pustak Ka Vivaran : Aadarsh hi karm-jeevan ka pran hai. Ham chahe darshanik vicharon mein magn raha karen athava dainik jeevan ke kathor kartavyon ka palan kiya karen, hamare sampurn jeevan mein hamara Aadi hi ot-prot roop se vidhyaman rahata hai. Isi aadarsh ki kiranen seedhee athava vakr gati se pratibimbit tatha paravartit ho mano hamare jeevan-grah mein chhidr chhidr mein se hokar pravesh karati rahati hain or hamen……….

Description about eBook : Ideal is the life force of action. Whether we are engrossed in philosophical thoughts or perform the strict duties of daily life, our habit is present throughout our life. The rays of this ideal are reflected and reflected with a straight or curved motion, as if entering through a hole in our living room and giving us…………

“तेज दिमाग और सच्चे दिल के जोड़ से जीतना दूभर है।” नेल्सन मंडेला
“A good head and a good heart are always a formidable combination.” Nelson Mandela

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment