फिर अमृत की बूंद पड़ी : ओशो द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Phir Amrit Ki Boond Padi : by Osho Hindi PDF Book – Spiritual (Adhyatmik)

फिर अमृत की बूंद पड़ी : ओशो द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Phir Amrit Ki Boond Padi : by Osho Hindi PDF Book – Spiritual (Adhyatmik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name फिर अमृत की बूंद पड़ी / Phir Amrit Ki Boond Padi
Author
Category, ,
Language
Pages 1
Quality Good
Size 137 KB

पुस्तक का विवरण : मैं स्वतंत्र आदमी हूं। बड़े दुख भरे हृदय से मुझे आपको बताना है कि आज हमारे पास जो आदमी है. वह इस योग्य नहीं है कि उसके लिए लड़ा जाए। टूटे हुए सपनों, ध्वस्त कल्पनाओं और विखरी हुई आशाओं के साथ मैं वापस लौटा | हूं। जो मैंने देखा वह एक वास्तविकता है………..

फिर अमृत की बूंद पड़ी : ओशो द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Phir Amrit Ki Boond Padi : by Osho Hindi PDF Book – Spiritual (Adhyatmik)

Pustak Ka Vivaran : Main svatantr Adami hoon. Bade dukh bhare hrday se mujhe apako batana hai ki aj hamare pas jo adami hai. Vah is yogy nahin hai ki usake lie lada jae. Toote hue sapanon, dhvast kalpanaon aur vikhari hui ashaon ke sath main vapas lauta | hoon. Jo mainne dekha vah ek vastavikata hai…………

Description about eBook : I’m an independent man. From a big sad heart, let me tell you that we have the man today. He is not worthy of being fought for him. I returned with broken dreams, demolished fantasies and scattered hopes. I am What I saw is a reality…………..

“सम्मान रहित सफलता नमक रहित भोजन की तरह होती है; इससे आपकी भूख तो मिट जाएगी, लेकिन यह स्वादिष्ट नहीं लगेगी।” ‐ जो पैटेर्नो
“Success without honor is an unseasoned dish; it will satisfy your hunger, but it won’t taste good.” ‐ Joe Paterno

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment