प्रमाणवार्तिकम : स्वामी योगीन्द्रानन्द द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – ग्रन्थ | Praman Vartikam : by Swami Yogindranand Hindi PDF Book – Granth

Book Nameप्रमाणवार्तिकम / Praman Vartikam
Author
Category, , , ,
Language
Pages 217
Quality Good
Size 340 MB
Download Status Available

प्रमाणवार्तिकम का संछिप्त विवरण : आज का भारत उस विकसित, पुष्पित कोर पल्‍लवित रूपरेखा के अभिज्ञान से वंचित-सा है। हमारी एकमात्र आशा है, सारनाथ में प्रतिष्ठित “केन्द्रीय उच्च तिब्बती संस्थान’, हमें उस विशाल अध्ययन में अपने उस भगीरथ प्रयत्न से संप्राप्त गंगा की विशाल धारा संस्कृत में रूपान्तरित कर न केवल भारत अपितु समस्त विश्व को ही लाभान्वित करेगी । संस्कृत, तिब्बती और हिन्दी आदि भाषाओं…….

Praman Vartikam PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Sarnath mein pratishthit “Kendriya uchch Tibbati sansthan, hamen us vishal adhyayan mein apane us bhagirath prayatn se samprapt Ganga ki vishal dhara sanskrit mein Roopantarit kar na keval bharat apitu samast vishv ko hi Labhanvit karegi . Sanskrt, Tibbati aur Hindi aadi bhashayon ……….
Short Description of Praman Vartikam PDF Book : Today’s India is deprived of the recognition of that developed, floral mouthful flourish. Our only hope, the iconic “Central High Tibetan Institute” at Sarnath, will benefit not only India but the entire world by converting the vast stream of Ganges derived from that Bhagiratha effort into Sanskrit in that vast study. Sanskrit, Tibetan and Hindi Etc. languages ​​……….
“हमें भाईयों की तरह मिलकर रहना अवश्य सीखना होगा अन्यथा मूर्खों की तरह सभी बरबाद हो जाएंगे।” मार्टिन लूथर किंग, जूनियर
“We must learn to live together as brothers or perish together as fools.” Martin Luther King, Jr.

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment