रामदरश मिश्र की लोकप्रिय कहानियाँ : रामदरश मिश्र द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – कहानी | Ramdarash Mishra Ki Lokpriya Kahaniyan : by Ramdarash Mishra Hindi PDF Book – Story (Kahani)

रामदरश मिश्र की लोकप्रिय कहानियाँ : रामदरश मिश्र द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - कहानी | Ramdarash Mishra Ki Lokpriya Kahaniyan : by Ramdarash Mishra Hindi PDF Book - Story (Kahani)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name रामदरश मिश्र की लोकप्रिय कहानियाँ / Ramdarash Mishra Ki Lokpriya Kahaniyan
Author
Category, , , ,
Language
Pages 131
Quality Good
Size 1.3 MB
Download Status Available

रामदरश मिश्र की लोकप्रिय कहानियाँ का संछिप्त विवरण : मुझे मालूम है कि माँ के पेट में अकसर दर्द होता था। जब मुझे भी वह दर्द होने लगा तो ‘शहर के डॉक्टरों से मालूम हुआ कि वह हाइपर एसिडिटी है, जो मुझे माँ से मिली है। डॉक्टर कहते हैं कि इसके बहुत बढ़ जाने पर पेट में गाँठ पड़ जाती है, फिर वह फोड़ा बनकर फूट जाती है और पेट में जहर फैल जाता है, माँ इसी से मरी है. इस रोग में दवा के अलावा काफी दूध चाहिए…………

Ramdarash Mishra Ki Lokpriya Kahaniyan PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Mujhe Maloom hai ki man ke pet mein Aksar dard hota tha. Jab mujhe bhi vah dard hone laga to shahar ke Doctaron se maloom huya ki vah haipar Acidity hai, jo mujhe man se mili hai. Doctor kahate hain ki isake bahut badh jane par pet mein Ganth pad jati hai, phir vah phoda bankar phoot jati hai aur pet mein jahar phail jata hai, man isi se mari hai. Is Rog mein dava ke alava kaphi doodh chahiye……..
Short Description of Ramdarash Mishra Ki Lokpriya Kahaniyan PDF Book : I know that mother’s stomach often hurts. When I also started having that pain, I came to know from the doctors of the city that it is hyper acidity, which I got from my mother. Doctors say that if it increases too much, there is a knot in the stomach, then it bursts into an abscess and the poison spreads in the stomach, the mother has died due to this. In this disease, apart from medicine, a lot of milk is needed……
“प्रत्येक शिशु एक संदेश लेकर आता है कि भगवान मनुष्य को लेकर हतोत्साहित नहीं है।” – रविन्द्रनाथ टैगोर
“Every child comes with the message that God is not yet discouraged of man.” – Rabindranath Tagore

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment