शांति के योद्धा प्रेमचंद : अमृतराय द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Shanti Ke Yoddha Premchand : by Amritrai Hindi PDF Book

शांति के योद्धा प्रेमचंद : अमृतराय द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Shanti Ke Yoddha Premchand : by Amritrai Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name शांति के योद्धा प्रेमचंद / Shanti Ke Yoddha Premchand
Author
Category, , , ,
Pages 53
Quality Good
Size 4.5 MB
Download Status Available

शांति के योद्धा प्रेमचंद का संछिप्त विवरण : इस पुस्तक के नाम से संभव है आप कुछ चौके और अपने दिल मे कहे या क्या फिजूल की बकवास है, शांति अगर विपिन्न है तो आज, उसकी रक्षा के लिए और युद्ध के खिलाफ अगर कुछ संघर्ष चल रहा है तो वह भी आज बेचारे प्रेमचंद को इस शांति के संघर्ष से क्या लेना देना……..

Shanti Ke Yoddha Premchand PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Is pustak ke naam se sambhav hai aap kuchh chauke aur apane dil me kahe ya kya phijool kee bakavaas hai, shaanti agar vipinn hai to aaj, usakee raksha ke lie aur yuddh ke khilaaph agar kuchh sangharsh chal raha hai to vah bhee aaj bechaare premachand ko is shaanti ke sangharsh se kya lena dena………….
Short Description of Shanti Ke Yoddha Premchand PDF Book : This book is possible by the name of some chaukha and in your heart, or is it the nonsense of fiasco, if peace is inflexible, today, to protect it and if there is some struggle against the war, then that too poor love affair What to do with the struggle of this peace…………..
“कुछ लोग, चाहे जितने बूढ़े हो जाएं, उनकी सुंदरता नहीं मिटती – यह बस उनके चेहरों से उतर कर उनके दिलों में आ बसती है।” ‐ मार्टिन बक्सबाम
“Some People no matter how old they get,never loose theire beauty-They mearly move it from theire faces to their heart.” ‐ Martin Buxbom

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment