श्रीशिवपुराण-माहात्म्य : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – पुराण | Shri Shiv Puran Mahatmya : Hindi PDF Book – Puran

श्रीशिवपुराण-माहात्म्य : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - पुराण | Shri Shiv Puran Mahatmya : Hindi PDF Book - Puran
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name श्रीशिवपुराण-माहात्म्य / Shri Shiv Puran Mahatmya
Category, , ,
Language
Pages 812
Quality Good
Size 383 KB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : श्रीशौनक जी ने पूछा- महाज्ञानी सूतजी ! आप सम्पूर्ण सिद्धांतों के ज्ञाता हे | प्रभो ! मुझसे पुराणों की कथाओं के सारतत्त्व का विशेष रूप से वर्णन कीजिये | ज्ञान और वैराग्य-सहित भक्ति से प्राप्त होने वाले विवेक की वृद्धि कैसे होती है ? तथा साधू पुरुष किस प्रकार अपने काम-क्रोध आदि मानसिक विकारों का निवारण करता है……….

Pustak Ka Vivaran : Shrishaunak ji ne puchha- mahagyani Sutji ! aap sampurn siddhanton ke gyata hai. Prabho ! mujhse puranon ki kathaon ke saratattv ka vishesh rup se varnan keejiye. Gyan aur vairagy-sahit bhakti se prapt hone vale vivek ki vrddhi kaise hoti hai ? tatha sadhu purush kis prakar apne kaam-krodh aadi manasik vikaron ka nivaran karta hai…………

Description about eBook : Srishakak ji asked- Mahagi Yogi Sutaji! You are the knower of all the principles. Prabhu! Let me explain the essence of the stories of the Puranas. How is the discrimination gained from devotion including knowledge and quietness? And how does a sage man solve mental disorders like work and anger?………………

“मेरा दृष्टिकोण तो यह है कि आप इंद्रधनुष चाहते हैं तो आपको वर्षा सहन करनी ही होगी।” ‐ डॉली पार्टन
“The way I see it, if you want the rainbow, you gotta put up with the rain.” ‐ Dolly Parton

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

2 thoughts on “श्रीशिवपुराण-माहात्म्य : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – पुराण | Shri Shiv Puran Mahatmya : Hindi PDF Book – Puran”

Leave a Comment