स्वदेशी कृषि : राजीव दीक्षित द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Swadeshi Krishi : by Rajiv Dixit Hindi PDF Book

स्वदेशी कृषि : राजीव दीक्षित द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Swadeshi Krishi : by Rajiv Dixit Hindi PDF Book
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name स्वदेशी कृषि / Swadeshi Krishi
Author
Category, , ,
Pages 112
Quality Good
Size 7.3 MB
Download Status Available

स्वदेशी कृषि का संछिप्त विवरण : राजीव भाई का पूरा जीवन इस आधार को स्थापित करने मे लगा रहा की भारतीय कि व्यवस्थाओं को भारतीय के आधार अपर पुनः स्थापित किया जा सके। हमारी जो व्यवस्थाये आज चल रही है वे सभी अंग्रेज़ियत के आधार पर ही चल रही है। अंग्रेजों ने भारत की लूट खसोट करने के लिए जों…..

 

Swadeshi Krishi PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Raajeev bhai ka poora jeevan is aadhaar ko sthaapit karane me laga raha ki bhaaratiy ki vyavasthaon ko bhaaratiy ke aadhaar apar punah sthaapit kiya ja sake. hamaari jo vyavasthaaye aaj chal rahee hai ve sabhi angreziyat ke aadhaar par hi chal rahee hai. angrejon ne bhaarat ki loot khasot karane ke lie jo………….
Short Description of Swadeshi Krishi PDF Book : Rajiv Bhai’s entire life was established to establish this foundation that Indian systems could be re-established on the basis of Indian basis. Our system that is going on today is running on the basis of all the English. The British tried to destroy India’s loot…………..
“परिवर्तन को जो ठुकरा देता है वह क्षय का निर्माता है। केवलमात्र मानव व्यवस्था जो प्रगति से विमुख है वह है कब्रगाह।” ‐ हैरल्ड विल्सन
“He who rejects change is the architect of decay. The only human institution which rejects progress is the cemetery.” ‐ Harold Wilson

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment