आबू : गौरीशंकर हीराचंद ओझा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Abu : by Gaurishankar Hirachand Ojha Hindi PDF Book – Social (Samajik)

आबू : गौरीशंकर हीराचंद ओझा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - सामाजिक | Abu : by Gaurishankar Hirachand Ojha Hindi PDF Book - Social (Samajik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name आबू / Abu
Author
Category
Language
Pages 459
Quality Good
Size 6 MB
Download Status Available

आबू का संछिप्त विवरण : इसी पट के नीचे के भाग में पट्ट बनवाने वाले श्रावक “सोनी विधा” और दूसरी ओर इसकी स्त्री श्राविका “संघ-बणि चंपाई की मूर्तियाँ हैं। पट्ट के ऊपर के भाग में दोनों तरफ एक एक श्राविका की मूर्तियाँ चुनी हुई हैं | उस पर नामेल्लेख नहीं दै। परन्तु सम्भव है कि – वे दोनों. मृत्तियाँ ही उन्हीं के कुटुम्ब की स्त्रियों या पुत्रियों की होंगी…..

 Abu PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Isi pat ke Neeche ke bhag mein patt banvane vale shravak “Soni vidha” aur doosari or isaki stri shravika “Sangh-bani champai ki moortiyan hain. Patt ke oopar ke bhag mein donon taraph ek ek shravika ki moortiyan chuni huyi hain . Us par Namellekh nahin dai. Parantu sambhav hai ki – ve donon. Muttiyan hi unheen ke kutumb ki striyon ya putriyon ki hongi……..
Short Description of Abu PDF Book : In the lower part of this board, there are statues of “Soni Vidha”, the Shravak who made the plaque and on the other hand, its female Shravika “Sangha-Bani Champai”. In the upper part of the plaque, there are selected statues of one Shravika on both the sides. There is no nomination on it. But it is possible that both of them. Only the idols will belong to the women or daughters of their family …….
“आपके सिवाए आपकी खुशियों का नियंत्रण किसी ओर के पास नहीं है; इसलिए, आपके पास अपनी किसी भी स्थिति को परिवर्तन करने की शक्ति है।” बारबरा डे एंजेलिस
“No one is in control of your happiness but you; therefore, you have the power to change anything about yourself.” Barbara De Angelis

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment