अजपा – जप : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – आध्यात्मिक | Ajpa – Jap : Hindi PDF Book – Spiritual (Adhyatmik)

Book Nameअजपा – जप / Ajpa – Jap
Author
Category, ,
Language
Pages 7
Quality Good
Size 1 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : एक आध्यात्मिक जिज्ञासु के लिए यह आवश्यक है कि वह अपनी प्रत्येक श्वास पर ध्यान दे और उसके महत्त्व को समझे। श्वास प्रक्रिया के ये-नियमित-दीर्घकालीन-अल्पकालीन करने के लिए किसी बहरी प्रयत्न पर नहीं बल्कि श्वास प्रक्रिया पर ध्यान देना होता है। जिज्ञासु की कोशिश होनी चाहिए ……….

Pustak Ka Vivaran : Ek Adhyatmik jigyasu ke liye yah aavashyak hai ki vah apanee pratyek shvas par dhyan de aur usake mahattv ko samajhe. Shvas prakriya ke ye-niyamit-deerghakaleen-alpakaleen karane ke liye kisi baharee prayatn par nahin balki shvas prakriya par dhyan dena hota hai. Jigyasu kee koshish honi chahiye…………

Description about eBook : It is necessary for a spiritual inquisitor to pay attention to each breath and understand its importance. To do these regular-long-term short-term breathing process, focus on the breathing process, not on any deaf effort. Curious must try………..

“जब दूसरे व्यक्ति सोए हों, तो उस समय अध्ययन करें; उस समय कार्य करें जब दूसरे व्यक्ति अपने समय को नष्ट करते हैं; उस समय तैयारी करें जब दूसरे खेल रहे हों ; और उस समय सपने देखें जब दूसरे केवल कामना ही कर रहे हों।” – विलियम आर्थर वार्ड
“Study while others are sleeping; work while others are loafing; prepare while others are playing; and dream while others are wishing.” -William Arthur Ward

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment