अन्त्यकर्म – श्राद्ध प्रकाश : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – धार्मिक | Antyakarm – Shraddh Prakash : Hindi PDF Book – Religious (Dharmik)

अन्त्यकर्म - श्राद्ध प्रकाश : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - धार्मिक | Antyakarm - Shraddh Prakash : Hindi PDF Book - Religious (Dharmik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name अन्त्यकर्म - श्राद्ध प्रकाश / Antyakarm - Shraddh Prakash
Category, , , , ,
Language
Pages 431
Quality Good
Size 2.3 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : जीवन की परि समाप्ति मृत्यु से होती है, इस ध्रुव सत्य को सभी ने स्वीकार किया है और यह प्रत्यक्ष भी दिखलायी पड़ता है। जीवात्मा इतना सूक्ष्म होता है कि जब वह शरीर से निकलता है, उस समय कोई भी मनुष्य उसे अपने चर्म चक्षुओं से देख नहीं सकता और यही जीवात्मा अपने कर्मों के भोगों को…

Pustak Ka Vivaran : Jeevan ki Pari Samapti Mrityu se hoti hai, is dhruv saty ko sabhi ne Svikar kiya hai aur yah Pratyaksh bhi dikhlayi padata hai. Jeevatma itna sookshm hota hai ki jab vah shareer se nikalata hai, us samay koi bhi Manushy use apne charm chakshuon se dekh nahin sakta aur yahi Jeevatma apne karmon ke bhogon ko…….

Description about eBook : Life ends with death, this pole truth has been accepted by all and it is also visible. The soul is so subtle that when it leaves the body, at that time no human can see it with its skin and this soul can see the pleasures of its actions……..

“हमारे यौवन के असंयमों की वसूली हमारी वृद्धावस्था में होती है, सूत समेत, कुछ तीस बरस बाद।” – चार्ल्स केलेब कोल्टन, लेखक और पादरी (1780-1832)
“The excesses of our youth are drafts upon our old age, payable with interest, about thirty years after date.” – Charles Caleb Colton, author and clergyman (1780-1832)

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment