अपने अपने कारावास : सरोज वशिष्ठ द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – कहानी | Apne Apne Karavas : by Saroj Vasishtha Hindi PDF Book – Story (Kahani)

अपने अपने कारावास : सरोज वशिष्ठ द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - कहानी | Apne Apne Karavas : by Saroj Vasishtha Hindi PDF Book - Story (Kahani)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name अपने अपने कारावास / Apne Apne Karavas
Author
Category, , , ,
Language
Pages 104
Quality Good
Size 2 MB
Download Status Available

अपने अपने कारावास पुस्तक का कुछ अंश : “किसी देश में कितनी प्रगति हुई, कौन-सा देश कितना अधिक शक्तिशाली है यह तो इतिहास और राजनीति के विषय हैं, पर हर पल बदलते संसार में हर इन्सान सोचता जरूर है, जूझता जरूर है, अनुभव और कामनाएं करता है। और अन्त में हर इन्सान किसी न किसी हद तक त्रस्त और अकेला रह जाता है । जो कोई भी अपनी……

Apne Apne Karavas PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Kisi desh mein kitani pragati huyi, kaun-sa desh kitana Adhik shaktishali hai yah to itihas aur Rajneeti ke vishay hain, par har pal badalate sansar mein har insan sochata jaroor hai, joojhata jaroor hai, Anubhav aur kamanayen karata hai. Aur ant mein har insan kisi na kisi had tak trast aur akela rah jata hai . Jo koi bhi Apani…….
Short Passage of Apne Apne Karavas Hindi PDF Book : How much progress has been made in a country, which country is so powerful, it is a matter of history and politics, but in the changing world every person thinks, feels sure, experiences and wishes. And in the end, every person is stricken and alone to some extent. Whoever its …….
“जब आप कुछ गंवा बैठते हैं, तो उससे प्राप्त शिक्षा को न गंवाएं।” ‐ दलाई लामा
“When you lose, do not lose the lesson.” ‐ Dalai Lama

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment