अर्द्धनारी का रहस्य : देवदत्त पटनायक द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – धार्मिक | Arddhanari Ka Rahasya : by Devdatt Patnayak Hindi PDF Book – Religious (Dharmik)

Book Nameअर्द्धनारी का रहस्य / Arddhanari Ka Rahasya
Author
Category, , , ,
Language
Pages 19
Quality Good
Size 2 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : हिंद धर्म में भगवान्‌ निर्गुण या सगुण हो सकते हैं। भगवान्‌ को चाहे किसी भी रूप में दिखाया जाए, वह रूप अधूरा होगा। यदि भगवान्‌ को पौधे के रूप में दिखाया जाए तो उसमें जानवर और खनिज का कोई अस्तित्व नहीं होगा। यदि उन्हें मानव के रूप में दिखाया जाए तो कया वे पुरुष होंगे या नारी होंगे या दोनों का संयोग होंगे? हिंदुओं के लिए भगवान्‌ कभी एक रूप तक सीमित नहीं रहे हैं……..

Pustak Ka Vivaran : Hind Dharm mein bhagavan‌ Nirgun ya sagun ho sakate hain. Bhagvan‌ ko chahe kisi bhee roop mein dikhaya jaye, vah roop adhoora hoga. Yadi bhagavan‌ ko paudhe ke roop mein dikhaya jaye to usamen janavar aur khanij ka koi astitv nahin hoga. yadi unhen manav ke roop mein dikhaya jaye to kya ve purush honge ya Nari honge ya donon ka sanyog honge? Hinduon ke lie bhagvan‌ kabhi ek roop tak seemit nahin rahe hain……..

Description about eBook : In Hinduism, God can be nirgun or saguna. Whatever form of God is shown, that form will be incomplete. If God is shown as a plant, then animals and minerals will have no existence in it. If they are shown as human, will they be male or female or a combination of both? God has never been limited to one form for Hindus …….

“जीवन मुख्य रुप से अथवा मोटे तौर पर तथ्यों और घटनाओं पर आधारित नहीं है। यह मुख्य रुप से किसी व्यक्ति के दिलो दिमाग में निरन्तर उठने वाले विचारों के तूफानों पर आधारित होती है।” ‐ मार्क ट्वेन
“Life does not consist mainly, or even largely, of facts and happenings. It consists mainly of the storm of thoughts that are forever blowing through one’s mind.” ‐ Mark Twain

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment