शिव का रहस्य : देवदत्त पटनायक द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – धार्मिक | Shiv Ka Rahasya : by Devdatt Patnayak Hindi PDF Book – Religious (Dharmik)

Book Nameशिव का रहस्य / Shiv Ka Rahasya
Author
Category, , ,
Language
Pages 26
Quality Good
Size 2 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : सृजन चीजों के जलने से होता है; लेकिन भस्म को खुद नहीं जलाया जा सकता। इस तरह यह अनश्वर आत्मा का प्रतीक है। भौतिक तत्त्व को जब जलाया जाता है तो उसमें से आत्मा निकलती है। शिव के ललाट पर भस्म की तीन अनुप्रस्थ रेखाएँ हैं। इन रेखाओं को उन तीन लोकों का प्रतीक माना जाता है, जिनका संहार किया गया है। और इनका क्षैतिजाकार होना जड़ता…….

Pustak Ka Vivaran : Srjan Cheejon ke jalane se hota hai; Lekin bhasm ko khud nahin jalaya ja sakata. Is tarah yah Anashvar aatma ka prateek hai. Bhautik tattv ko jab jalaya jata hai to usamen se aatma nikalati hai. shiv ke lalat par bhasm kee teen Anuprasth rekhaen hain. In rekhaon ko un teen lokon ka prateek mana jata hai, Jinaka Sanhar kiya gaya hai. Aur Inaka kshaitijakar hona jadata………..

Description about eBook : Creation is caused by the burning of things; But incineration cannot be burnt by itself. In this way it is a symbol of eternal soul. When a physical element is burnt, the spirit comes out of it. There are three transverse lines of Bhasma on the forehead of Shiva. These lines are considered to be the symbol of the three worlds that have been destroyed. And their inertia is inertial ………….

“सदा जवान रहने के लिए मुख का सौंदर्य नहीं, मस्तिष्क की उड़ान ज़रूरी है।” ‐ मार्टी बुचेला
“When it comes to staying young, a mind-lift beats a face-lift any day.” ‐ Marty Bucella

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment