अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra

Author
Category,
Language
पुस्तक का डाउनलोड लिंक नीचे हरी पट्टी पर दिया गया है|
“एक महान नेता में अपनी दूरदर्शिता को पूरा करने की हिम्मत उत्कंठा से आती है, दर्जे से नहीं।” ‐ जॉन मैक्सवेल
“A great leader’s courage to fulfill his vision comes from passion, not position.” ‐ John Maxwell

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book

 

( Download Link Given Below / डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया हैं )

Asmita-Ke-Liye-Vidhya-Niwash-Mishra-अस्मिता-के-लिए-विद्यानिवास-मिश्र

पुस्तक का नाम / Name of Book : अस्मिता के लिए

पुस्तक के लेखक / Author of Book : विद्यानिवास मिश्र

पुस्तक की भाषा / Language of Book : हिंदी 

Size of Ebook : 8 MB

कुल पन्ने / Total pages in ebook : 131

पुस्तक डाउनलोड स्थिति / Ebook Downloading Status  : Medium 

(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )

पुस्तक का विवरण / Description about ebook : इधर
देश के कई भागों में जाना हुआ, चुनाव के नारे सुने, चुनाव के घोषणा-पत्र
पढ़े, ‘नित नया मुखोटा’, बदलती राजनीती की रंगत देखी, यही लगा कि विष्णु
भगवान् ही क्षीरसागर में सोने चले जाते थे, अब लगता है देश की धरती भी कहीं
समुद्र मैं सोने लगी है | देश के सीमान्त्प्रान्तों में स्वायत्तता कि जो
मांग उभर रही है, कश्मीर और मेघालय में अपने ही देश का आदमी विदेशी मन जाने
लगा है, मणिपुर में हिंसा की राजनीती उभर रही है, …………….

 



सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें


http://db.44books.com/2016/11/blog-post_0.html

इस पुस्तक को दुसरो तक पहुचाएं 







श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें 

One Quotation / एक उद्धरण

“हो सकता है दूसरी ओर की घास अधिक हरी लगे, लेकिन अगर आप अपनी घास को पानी देने का समय निकालें तो यह भी उतनी ही हरी लगेगी।”
– अज्ञात
——————————–

“You may think grass is greener on the other side, but if you take the time to water your own grass it would be just as green.”
– Anonymous

अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book अस्मिता के लिए : विद्यानिवास मिश्र द्वारा हिंदी पुस्तक | Asmita Ke Liye : by Vidhya Niwash Mishra Hindi Book

Leave a Comment