चतुर लोमड़ी : डॉ० प्रदीप कुमार शर्मा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – कहानी | Chatur Lomdi : by Dr. Pradip Kumar Sharma Hindi PDF Book – Story ( Kahani )

चतुर लोमड़ी : डॉ० प्रदीप कुमार शर्मा द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - कहानी | Chatur Lomdi : by Dr. Pradip Kumar Sharma Hindi PDF Book - Story ( Kahani )
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name चतुर लोमड़ी / Chatur Lomdi
Author
Category, ,
Language
Pages 3
Quality Good
Size 826 KB
Download Status Available

चतुर लोमड़ी का संछिप्त विवरण : किसी जंगल में एक शेर रहता था। नाम था उसका- शेरसिंह। उसे अपने बल का बड़ा घमंड था। वह प्रतिदिन बहुत से जानवरों को मारता था। एक-दो को खाता, बाकि वैसे ही मारकर फेंक देता था। शेरसिंह से सभी जानवर डरते थे। जिस रास्ते से वह निकल जाता, सभी इधर-उधर छिप जाते। इस विनाश को देख कर वन के सभी जानवरों ने सोचा कि यही दशा रही, तो वह दिन दूर नहीं, जब इस वन में हम जानवरों का नामोनिशान ही मिट जाएगा। सभी शेरसिंह के आतंक से छटकारा पाना चाहते थे…….

Chatur Lomdi PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Kisi jangal mein ek sher rahta tha. Naam tha uska- Shersinh. Use apne bal ka bada ghamand tha. Vah pratidin bahut se janvaron ko marata tha. Ek-do ko khata, baki vaise hi markar phenk deta tha. Shersinh se sabhi janvar darte the. Jis raste se vah nikal jata, sabhi idhar-udhar chip jate. Is vinash ko dekh kar van ke sabhi janvaron ne socha ki yai dasha rahi, to vah din dur nahin, jab is van mein ham janvaron ka namonishan hi mit jaega. Sabhi shersinh ke aatank se chutkara pana chahate the………….
Short Description of Chatur Lomdi PDF Book : There was a lion in a forest. The name was his- Sher Singh. He had great pride in his strength. He kills many animals every day. One or two of the account was thrown by the other, and then throw it. All the animals from Sher Singh were afraid. By the way in which he would get out, all of them would be hiding around. Seeing this destruction, all the animals in the forest thought that this is the situation, then that day is not far away, when we will disappear from animals in this forest. All wanted to get rid of Sher Singh’s terror…………..
“आइये उन व्यक्तियों के प्रति आभार व्यक्त करें जो हमें प्रसन्न बनाते हैं।” ‐ मार्सल प्रोसाउट
“Let us be grateful to people who makes us happy.” ‐ Marcel Proust

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment