दीपा का प्रेम : ताराशंकर वंद्योपाध्याय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – साहित्य | Deepa Ka Prem : by Tarashankar Bandhyopadhyay Hindi PDF Book – Literature (Sahitya)

Book Nameदीपा का प्रेम / Deepa Ka Prem
Author
Category, , , , ,
Language
Pages 151
Quality Good
Size 6.5 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : साहित्य में लेखकों के दो प्रकार के वर्ग होते है। पहले वर्ग में ऐसे लेखक होते है जो आते ही सफलता के सर्वोच्च शिखर पर बैठ जाते है। बांग्ला साहित्य में विभूतिभूषण वंद्योपाध्याय ऐसे उदाहरण है। उनका पहला उपन्यास ‘पथेर पांचाली’ ही उनके जीवन का श्रेष्ठ उपन्यास साबित हुआ। बाद में हुई किसी भी कृति को अपनी सर्वप्रथम कृति ज्यादा…………

Pustak Ka Vivaran : Sahity mein Lekhakon ke do Prakar ke varg hote hai. Pahale varg mein aise lekhak hote hai jo Aate hee saphalata ke sarvochch shikhar par baith jate hai. Bangla Sahity mein Vibhootibhooshan vandyopadhyay aise udaharan hai. Unaka pahala upanyas pather Panchali hee unake jeevan ka shreshth upanyas sabit huya. Bad mein huyi kisi bhee krti ko apani Sarvapratham krti Zyada………

Description about eBook : There are two types of classes of authors in literature. In the first category, there are writers who sit on the highest peak of success as soon as they arrive. Vibhuti Bhushan Vandyopadhyay is one such example in Bengali literature. His first novel ‘Pather Panchali’ proved to be the best novel of his life. Any work done later than his first work more ………

“जब दूसरे व्यक्ति सोए हों, तो उस समय अध्ययन करें; उस समय कार्य करें जब दूसरे व्यक्ति अपने समय को नष्ट करते हैं; उस समय तैयारी करें जब दूसरे खेल रहे हों ; और उस समय सपने देखें जब दूसरे केवल कामना ही कर रहे हों।” विलियम आर्थर वार्ड
“Study while others are sleeping; work while others are loafing; prepare while others are playing; and dream while others are wishing.” William Arthur Ward

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment