धर्मतत्त्व : स्वामी विवेकानन्द द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Dharmtattva : by Swami Vivekanand Hindi PDF Book – Social (Samajik)

धर्मतत्त्व : स्वामी विवेकानन्द द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Dharmtattva : by Swami Vivekanand Hindi PDF Book – Social (Samajik)
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name धर्मतत्त्व / Dharmtattva
Author
Category, , , ,
Language
Pages 122
Quality Good
Size 3.7 MB

पुस्तक का विवरण : प्रस्तुत पुस्तक का यह द्वितीय संस्करण है। स्वामी विवेकानन्दजी का विभिन्न व्यक्तियों के साथ समय-समय पर अनेक महत्वपूर्ण विषयों पर जो वार्तालाप हुआ था, वह इस पुस्तक में लिपिबद्ध है। ये वार्तलाप धार्मिक, सांस्कृतिक, सामाजिक तथा शिक्षा सम्बन्धी अनेक विषयों पर है। इनमे स्वामीजी ने दर्शाया है कि वास्तव में भारतीय…………

Pustak Ka Vivaran : Prastut Pustak ka yah Dvitiy sanskaran hai. Svami Vivekananda Ji ka vibhinn vyaktiyon ke sath samay-samay par anek Mahatvapurn vishayon par jo vartalap huya tha, vah is pustak mein lipibaddh hai. Ye vartalap dharmik, sanskrtik, samajik tatha shiksha sambandhi anek vishayon par hai. Iname Svami ji ne darshaya hai ki vastav mein bharatiya…………

Description about eBook : This is the second edition of the present book. The conversations that Swami Vivekananda had with different people from time to time on many important topics are written in this book. These conversations are on many topics related to religious, cultural, social and education. In this, Swamiji has shown that in fact Indians…………

“ज़िंदगी तो कुल एक पीढ़ी भर की होती है, पर नेक काम पीढ़ी दर पीढ़ी चलता है।” – जापानी कहावत
“Life is for one generation; a good name is forever.” -Japanese Proverb

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment