दिव्य ज्ञान : मनोज पाण्डेय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – आध्यात्मिक | Divya Gyan : by Manoj Pandey Hindi PDF Book – Spiritual ( Adhyatmik )

दिव्य ज्ञान : मनोज पाण्डेय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - आध्यात्मिक | Divya Gyan : by Manoj Pandey Hindi PDF Book - Spiritual ( Adhyatmik )
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name दिव्य ज्ञान / Divya Gyan
Author
Category,
Language
Pages 130
Quality Good
Size 2 MB
Download Status Available
दिव्य ज्ञान पुस्तक का कुछ अंश : आज के आधुनिक समय में जब कम्प्यूटर, मोबाइल और इन्टरनेट की महत्वकांक्षा अत्यधिक बढ़ चुकी है, लोगो का इसके बिना आज आधुनिक युग में के जीना असंभव-सा प्रतित हो रहा है | एक प्रकार से आज लोगो का जीवन काफी हद तक इन संसाधनों पर निर्भर-सा हो गया है और हर व्यक्ति अपनी जरुरत की सभी जानकारियों के लिये व्यापार के लिए या किसी प्रकार की ज्ञान की जिज्ञासा को शांत करने के लिए भी इस मोबाईल, कम्प्युट का भरपूर सहयोग ले रहा है…….

 

Divya Gyan PDF Pustak in Hindi Ka Kuch Ansh : Aaj ke aadhunik samay mein jab kampyutar, mobail aur intarnet ki mahatvkanksha atyadhik badh chuki hai, logo ka iske bina aaj aadhunik yug mein ke jeena asambhav-sa pratit ho raha hai. Ek prakar se aaj logo ka jeevan kaphi had tak in sansadhanon par nirbhar-sa ho gaya hai aur har vyakti apni jarurat ki sabhi jankariyon ke liye vyapar ke lie ya kisi prakar ki gyan kee jigyasa ko shant karne ke lie bhi is mobail, kampyut ka bharapur sahayog le raha hai…………
Short Passage of Divya Gyan Hindi PDF Book : In today’s modern times, when the ambition of computer, mobile and internet has increased greatly, without it the people are living in a modern age without it being impossible. In a way today the life of the people has become largely dependent on these resources and every person needs to know about this need for business or for the knowledge of some kind of knowledge, Taking a lot of cooperation…………..
“है न यह अजीब बात कि हम उन चीज़ों के बारे में सबसे कम बात करते हैं जिनके बारे में हम सबसे अधिक सोचते हैं?” ‐ चार्ल्स लिंडबर्ग (१९०२-१९७४), अमरिकी वैमानिक
“Isn’t it strange that we talk least about the things we think about most?” ‐ Charles Lindbergh (1902-1974) American Aviator

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment