दूध क्यों नहीं : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Doodh Kyon Nahin : Hindi PDF Book – Social (Samajik)

Book Nameदूध क्यों नहीं / Doodh Kyon Nahin
Author
Category,
Language
Pages 2
Quality Good
Size 324 KB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : दूध के बारे में अनेक मान्यताएं फैली है। उस पर अनेक अन्वेषण हुए और अभी भी कई अनुसन्धान हो रहे है। वैज्ञानिकों ने अनुसन्धान के अंत में कहा कि दूध सम्पूर्ण आहार है। दूध में केल्सियम, प्रोटीन है आदि-आदि वे बहुत कुछ लिखते है। उन्होंने जो साबित किया है वह सही है किन्तु हम उसका अर्थ अलग प्रकार से करते है……..

Pustak Ka Vivaran : Doodh ke bare mein anek Manyatayen Faily hai. Us par Anek anveshan huye aur abhee bhee kaee anusandhan ho rahe hai. vaigyanikon ne anusandhan ke ant mein kaha ki doodh sampoorn aahar hai. Doodh mein Calcium, Proteen hai aadi-aadi ve bahut kuchh likhate hai. Unhonne jo sabit kiya hai vah sahi hai kintu ham usaka arth alag prakar se karate hai…………

Description about eBook : There are many beliefs about milk. Many investigations were done on it and many research is still going on. Scientists said at the end of the research that milk is a complete diet. Milk has calcium, protein etc. They write a lot. What they have proved is correct but we interpret it differently………………

“आपके जीवन के प्रश्न का आप ही उत्तर हैं, और आपके जीवन की समस्याओं का आप ही उत्तर हैं।” जॉय कोरडेयर
“To the question of your life you are the answer, and to the problems of your life you are the solution.” Joe Cordare

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment