कला : हंसकुमार तिवारी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – साहित्य | Kala : by Hanskumar Tiwari Hindi PDF Book – Literature ( Sahitya )

कला : हंसकुमार तिवारी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - साहित्य | Kala : by Hanskumar Tiwari Hindi PDF Book - Literature ( Sahitya )
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name कला / Kala
Author
Category, , ,
Language
Pages 163
Quality Good
Size 6.8 MB
Download Status Available

कला का संछिप्त विवरण : कला-साधना की परम्परा तो निस्संदेह बड़ी पुरानी है, किन्तु कला-चर्चा की कड़ी भी उससे कुछ कम लम्बी नहीं | वेद में कला का उल्लेख है | उपनिषद ने ब्रह्मा को पूर्ण कलाकार और इस विशाल स्रष्टि को उसकी कला कहा है | वेदान्त दर्शन में ऐसा उल्लेख मिलता है कि ब्रह्मा आदि कवि है, यह विश्व उसकी कविता है………

Kala PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Kala-sadhna ki parampara to nissandeh badi puranee hai, kintu kala-charcha ki kadi bhi usse kuchh kam lambi nahin. Ved mein kala ka ullekh hai. Upanishad ne Brahma ko purn kalakar aur is vishal srashti ko uski kala kaha hai. Vedant darshan mein aisa ullekh milta hai ki brahma aadi kavi hai, yah vishv uski kavita hai…………
Short Description of Kala PDF Book : The tradition of art-cultivation is undoubtedly old, but the art and discussion link is not even short. Art is mentioned in Vedas. Upanishad has described Brahma as a complete artist and this huge wealth is his art. There is mention in Vedanta philosophy that Brahma is a poet, this world is his poem…………..
“ज्ञान में पूंजी लगाने से सर्वाधिक ब्याज मिलता है।” ‐ बेंजामिन फ्रेंकलिन
“An investment in knowledge pays the best interest.” ‐ Benjamin Franklin

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment