काली – सिद्धि : डॉ. अशोक कुमार गौड द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – तंत्र मंत्र | Kali – Siddhi : by Dr. Ashok Kumar Goud Hindi PDF Book – Tantra Mantra

काली - सिद्धि : डॉ. अशोक कुमार गौड द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक - तंत्र मंत्र | Kali - Siddhi : by Dr. Ashok Kumar Goud Hindi PDF Book - Tantra Mantra
पुस्तक का विवरण / Book Details
Book Name काली - सिद्धि / Kali - Siddhi
Author
Category, , ,
Language
Pages 422
Quality Good
Size 93 MB
Download Status Available
 चेतावनी– यह पुस्तक केवल शोध कार्य के लिए है| इस पुस्तक से होने वाले परिणाम के लिए आप स्वयं उत्तरदायी होंगे न कि 44Books.com

पुस्तक का विवरण : शिवजी को पत्नी काली के विभिन्न रूप हैं। यही कारण हैँ कि तन्त्रशास्त्र के ज्ञाता भगवती काली को ही आद्याशक्ति महामाया के नाम से पूजित करते हैं। ये आद्याशक्ति शाक्‍्त मतावलम्बियों की इष्टदेवी के रूप में पूजित है। ये कभी सृष्टि का नाश, कभी स्थिति ओर कभी प्रलय करती हैं। इस अखण्ड शक्ति के अश्रित ही शिव सृष्टि का संहार करने में समर्थ हो पाते हैं, अन्यथा वह शव के तुल्य हो जाते हैं। भगवती काली की पूजा आज से ही नहीं, अपितु प्राचीन समय से होती चली आ……..

Pustak Ka Vivaran : Shivaji ki Patni Kali ke Vibhinn Roop hain. Yahi karan hain ki tantrashastra ke gyata bhagavati kaalee ko hee Aadyashakti Mahamaya ke Nam se Poojit karate hain. Ye Aadyashakti shakt Matavalambiyon kee Ishtadevi ke Roop mein poojit hai. Ye Kabhi Srshti ka Nash, kabhi sthiti or kabhi Pralay karati hain. Is Akhand Shakti ke Aashrit hee Shiv Srshti ka Sanhar karane mein Samarth ho Pate hain, Anyatha vah shav ke tuly ho jate hain. Bhagvati kali kee Pooja Aaj se hee Nahin, Apitu Pracheen Samay se hoti chali aa…………

Description about eBook : Shivji has various forms of wife Kali. This is the reason why the knowledgeer of Tantrasastra worships Bhagwati Kali in the name of Adyashakti Mahamaya. This Adyashakti Shakta is worshiped as the presiding deity of the people. Sometimes they destroy the world, sometimes the situation and sometimes the Holocaust. Only the dependents of this unquenchable power, Shiva is able to kill the world, otherwise he becomes like a dead body. Bhagwati Kali is worshiped not only today, but has been practiced since ancient times …………

“लम्बी आयु का महत्त्व नहीं है जितना महत्त्व इसकी गहनता है।” ‐ राल्फ वाल्डो एमर्सन
“It is not length of life, but depth of life, which is important.” ‐ Ralph Waldo Emerson

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment