कारागार से पिता पत्र : देवकीनन्दन द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Karagar Se Pita Patra : by Devkinandan Hindi PDF Book – Social (Samajik)

Book Nameकारागार से पिता पत्र / Karagar Se Pita Patra
Author
Category, , ,
Language
Pages 134
Quality Good
Size 1.6 MB

पुस्तक का विवरण : जहाँ तुमने भावना को जन्म दिया, बहां तुम्हारा हृदय एक नब आशा और स्फूर्ति से भर उठेगा तुम अपने जीवन में अमित उत्साह और लग्न संचार करने में सफल होंगे और स्थिति हो सकती है कि जब तुम प्रगति के मार्ग पर काफी आगे बाद सको | मैं यह नहीं कहता कि तुम इस प्रकार की भावना……….

Pustak Ka Vivaran : Jahan tumane Bhavana ko janm diya, vahan tumhara hrday ek nav aasha aur sphoorti se bhar uthega tum apane jeevan mein amit utsaah aur lagn sanchar karane mein saphal honge aur sthiti ho sakatee hai ki jab tum pragati ke marg par kaphee aage bad sako. Main yah nahin kahata ki tum is prakar kee bhavana………….

Description about eBook : Where you gave birth to emotion, your heart will be filled with a new hope and aura. You will be successful in making amritous enthusiasm and marriage in your life and the situation can be that when you can go ahead on the path of progress quite ahead. I do not say that you feel like this…………..

“किसी को क्या अच्छा लगता है, वैसा करना खुशी का रहस्य नहीं है, जबकि खुशी का रहस्य तो वह कार्य करना है जो कि किया जाना चाहिए।” ‐ जेम्स एम. बुर्री
“The secret of happiness is not doing what one likes, but liking what one has to do.” ‐ James M. Burrie

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment